मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की सियासी ताकत बढ़ाने की रणनीति पर तेजी से पहल कर रही प्रियंका गांधी वाड्रा ने पीस पार्टी और महान दल के साथ गठबंधन की राह खोल दी है। प्रियंका ने इन दोनों पार्टियों के शीर्ष नेताओं से चुनावी गठबंधन पर चर्चा की। इस बातचीत के दौरान दोनों दलों ने कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ने के अपने इरादों का साफ संकेत दे दिया है।

पूर्वी उत्तरप्रदेश की प्रभारी महासचिव के रुप में पिछले तीन दिनों में प्रियंका गांधी की छोटे दलों को कांग्रेस के साथ लाने की कोशिश की दूसरी कामयाबी है। इससे पूर्व गुरूवार को एनडीए सरकार में मंत्री अपना दल की नेता अनुप्रिया पटेल ने प्रियंका से मुलाकात कर कांग्रेस के साथ चुनावी दोस्ती का खुला संकेत दे दिया। पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में पीस पार्टी और महान दल का सामाजिक समीकरणों की वजह से प्रभाव है।

प्रियंका गांधी के निवास पर शनिवार को गठबंधन मसले पर चर्चा के लिए हुई बैठक में पीस पार्टी के अध्यक्ष डा. मोहम्मद अयूब और महान दल के प्रमुख केशव मोर्य दोनों मौजूद थे। इस बैठक में कांग्रेस के राज्यसभा सांसद उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ नेता डा संजय सिंह भी शामिल थे।

पूर्वी उत्तर प्रदेश के चुनावी दौरे का आगाज करने से पहले प्रियंका सूबे में कांग्रेस का चुनावी समीकरण दुरूस्त करने की पूरी कोशिश कर रही हैं। इस क्रम में कांग्रेस उन सभी दलों को टटोल रही है जो एनडीए से नाराज चल रहे हैं या सपा-बसपा गठबंधन का हिस्सा नहीं हैं।

सूत्रों की मानें तो योगी सरकार के नाराज सहयोगी सुहलदेव भारतीय समाज पार्टी के नेता ओमप्रकाश राजभर से भी कांग्रेस के रणनीतिकार संपर्क साध चुनावी तालमेल की संभावनाएं तलाश रहे हैं। 

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप