बहराइच, जेनएनए। कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने रविवार को बीजेपी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की विचारधारा जनता के दुःख दर्द समझने वाली विचारधारा है। किसानों को खाद बीज व उपज का दाम नही मिलता। किसान बीमा योजना से कुछ उद्योगपतियों का 10 हजार करोड़ फायदा हुआ है। किसान सम्मान योजना नहीं किसान अपमान योजना है। कांग्रेस उद्योगपति को नहीं किसानों व युवाओं अौर आपको बढ़ाना चाहती है।

यह बातें नानपारा के सआदत इंटर काॅलेज में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने चुनावी जनसभा में कहीं। बता दें, लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस को संजीवनी देने के लिए बेहद सक्रिय पार्टी की महासचिव तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी काफी प्रयास करने में लगी हैं। 

 

प्रचार में दिखाई जा रही विकास सच्ची नहीं झूठ 

किसानों को खाद बीज व उपज का दाम नहीं मिलता। बेसहारा पशुओं से किसान बहुत परेशान है। पूरी रात परिवार के एक सदस्य को खेत मे बैठना पड़ता है। जब मैं युवा से मिलती हूं तो वो कहते हैं कि आज भी वह बेरोजगार हैं। मनरेगा के मजदुरों को सालों के पैसे नहीं मिलते है। यह सब उनकी साजिश है। क्योकि भाजपा जानती है कि यह कांग्रेस ने शुरू किया था। बेरोजगारी दूर करने के लिए मनरेगा योजना शुरू की गई थी। जनता की मजूबती से आवाज उठाती है, इसलिए भाजपा इन्हें उठने नहीं देती। टीवी पर दिखाया जाता है कि बहुत विकास हुआ है। प्रचार में दिखाई जा रही विकास सच्ची नहीं है झूठी है। 

 

भाजपा की सरकार में अनुसूचित जाति पर हो रहा अत्याचार 

हर जिले में डिस्ट्रिक्ट फ्रूट पार्क बनाना चाहती है। भाजपा की योजनाओं से आपका कोई लाभ नहीं हुआ। भाजपा ने एक भी योजना पूरा नहीं की। उन्होंने कहा था कि किसान की आय दुगना होगी, जबकि किसान गरीब हो रहा है। भाजपा की सरकार में अनुसूचित जाति पर अत्याचार हुआ है, क्योकि वह अपनी आवाज उठा रहे थे।

 

जनता की आवाज ही मेरे लिए राष्ट्रवाद 

वाराणसी में मोदी एक भी गांव में नहीं गए। मोदी बड़े लोगों के साथ ही मिलते हैं और उन्ही के साथ बैठते हैं। सभी वर्ग के लिए हमने अपने घोषणा पत्र में जगह दी है। कांगेस सरकार में जीएसटी सरल बनाई जाएगी। कुछ नेता बड़ी-बड़ी बात करते हैं। जनता की आवाज ही मेरे लिए राष्ट्रवाद है। आप अपने वोट से देश को बदल सकते हैं। बहराइच की खास समस्याएं है जो मैंने लिखी भी हैं। घाघरा की सबसे बड़ी समस्या है, जिसके लिए हम काम करेंगे। आपको मैंने गर्मी में कष्ट दिया माफी चाहती हूं।

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस