गोरखपुर , जेएनएन। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि भाजपा की नीति और नीयत में खोट है। आप मनन कीजिये। चिन्तन कीजिये। असलियत समझ जाएंगे। यह पहले प्रचार में गरीबों के खाते में 15 लाख देने का वादा किया था। जब सरकार बना लिये तो तीन माह बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि वह तो जुमला था। वह सत्ता पाते ही जनता को भूल गए। जनता को गुमराह किया। दो करोड़ रोजगार तो दूर किसी भी बेरोजगार को रोजगार नहीं मिला। कहा कि मैं पूरे यूपी में घूमी हूं, एक भी युवा ने नहीं कहा कि रोजगार मिला है। हां यह जरूर कहा कि वह पिता के साथ दुकान पर हाथ बटाते हैं। किसानों को गन्ना मूल्य नहीं दिया। चीनी मिलों को पैसा दिया, लेकिन किसानों के खाते में नहीं आया। उपज का मूल्य नहीं मिलता। किसान कर्ज में डूब गए हैं।

सिद्धार्थनगर के डुमरियागंज में पार्टी प्रत्‍याशी के पक्ष में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि सरकार ने एक भी वादा पूरा नहीं किया। फसल बीमा योजना के नाम पर किसानों को लूटा जा रहा है। दस हजार करोड़ का फायदा मोदी के लोगों को हुआ, जिनकी खुद की बीमा कंपनी है। किसानों को दो रुपये रोज के हिसाब से पैसा देकर मजाक उड़ाया गया। यह किसान सम्मान नहीं किसान अपमान योजना है। मनरेगा मजदूरों को काम नहीं मिल रहा।

कांग्रेस की सरकार में भरपूर रोजगार मिलेगा। यह बुद्ध की धरती है। बुद्ध का संदेश शांति के लिए था, लेकिन यह सरकार क्रोध और नफरत के बीज बो रही है। पाकिस्तान में प्रधानमंत्री मोदी बिरयानी खाए, अमेरिका में ढोल बजाए, लेकिन एक बार भी अपने संसदीय क्षेत्र के गरीब परिवार से नहीं मिले।
उन्‍होंने कहा कि हमारे गुरू जी बताते हैं कि मन के मैल को आदत नहीं बनाना चाहिए। मैल फैलाने की आदत नहीं डालनी चाहिए। लेकिन भाजपा सिर्फ मैल फैला रही है। टीवी और अखबारों के प्रचार की हकीकत समझिए। ऐसी राजनीति लाइये। कांग्रेस आपकी भविष्य मजबूत करेगी।
बस्‍ती में प्रियंका ने कहा, भाजपा का प्रचार बड़ा, काम खोखला
शुक्रवार को बस्‍ती के राजकीय इंटर कालेज में पार्टी प्रत्याशी राजकिशोर सिंह के पक्ष में आयोजित जनसभा में कांग्रेस की महासचिव एवं पूर्वांचल प्रभारी प्रियंका गांधी ने कहा भाजपा की सरकार और भाजपा के नेता प्रचार में खूब माहिर हैं। वह प्रचार पर ही पूरा ध्यान देते हैं। वाराणसी दौरे के दौरान मैने वहां विकास के बारे में पूछा तो लोगों ने कहा कि हवाई अड्डे से शहर तक जाने वाली 15 किमी सड़क सिर्फ बनी है। चीन की लाइटें मंगाकर 75 साल पुराने पुल को नया रूप देने का काम किया गया। पांच साल में एक बार भी प्रधानमंत्री अपने चुनाव क्षेत्र के किसी भी गांव में नहीं गए हैं। बड़ी-बड़ी मीटिंग की और लौट गए। किसी किसान, नौजवान का हाल तक नहीं पूछा। इनका प्रचार बड़ा है, काम खोखला है। यह पाकिस्तान की बात करते हैं हिन्दुस्तान की नहीं। किसान नौजवान की समस्या इनका राष्ट्रवाद नहीं है।

उन्‍होंने कहा कि पांच साल पहले 15 लाख रुपये देने की बात कही। दो करोड़ लोगों को रोजगार देने की बात कही। मुझे पूरे प्रदेश में एक भी नौजवान नहीं मिला जिसे नौकरी मिली हो। भाजपा शासन में पांच करोड़ रोजगार घट गए। नोटबंदी में पचास लाख लोगों की नौकरी चली गई। आम आदमी नोटबंदी की लाइन में खड़ा हो गया। कोई नेता आपको कतार में खड़ा दिखा क्या, सिर्फ एक नेता खड़ा रहा वह है राहुल गांधी, जिसका मजाक उड़ाया गया। इनकी देशभक्ति पूरी तरह खोखली है। देश आप हैं, पांच साल में न किसान की सुनवाई हुई और न बहनों की सुनवाई हुई। मोदी सरकार ने आमदनी दो गुना करने की बात कही थी लेकिन आम आदमी की आमदनी घट गई।
प्रियंका ने कहा कि किसान बिचौलियों के हाथ अनाज बेच रहे हैं, देश में 12 हजार किसानों ने आत्महत्या कर ली। देश के विभिन्न प्रांतों से हजारों किसान दिल्ली आए अपनी समस्या बताने के लिए पीएम से पांच मिनट का समय मांगा तो पीएम ने किसानों को पांच मिनट का समय नहीं दिया। पाकिस्तान में बिरयानी खाई, जापान में ढोल बजाए लेकिन अपने किसानों के लिए समय नहीं है।
कहा कि 56 इंच का सीना तो बताते हैं लेकिन दिल का भी नाप बताएं। उनके दिल में किसानों के लिए कोई जगह है या नहीं है। आवारा पशु की समस्या से जूझ रहे किसानों के लिए कोई समाधान नहीं है। आवारा पशुओं का नाम क्या रखा है देशवासियों ने इसकी भी तो जानकारी कर लेते। पीएम का जनता से नाता टूट चुका है। आमजनता त्रस्त है और आप फिजूल की बात करते हैं। पाकिस्तान की बात करते हैं वर्तमान व भविष्य की बात नहीं करते हैं। चुनाव आया तो किसान सम्‍मान योजना निकाली। इस योजना के तहत 6 हजार रुपये खाते में देने की बात करते हैं। कुछ खातों में पैसे डाल दिए। बाद में निकाल लिए। यह किसान अपमान योजना है। वह सोचते हैं कि देश की जनता को गुमराह करना आसान है।

उन्‍होंने कहा कि जनता इनके भाषण सुनकर त्रस्त हो गई है। आलोचना, बेदर्दी इनकी भाषा में शामिल है। आप अपनी शक्ति को समझिए। आपके सामने जो भी पार्टी आती है उसे ठीक से समझिए। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपना घोषणा पत्र सोच समझ कर बनाया है। हमने आपको गरीबी के दलदल से निकालने के लिए हर गरीब परिवार को कांग्रेस सरकार 72 हजार रुपये देगी जो महिलाओं के खाते में जाएगा। सरकारी अस्पतालों में इलाज मुफ्त, 12 वीं तक मुफ्त शिक्षा, संसद में 35 फीसद महिला आरक्षण होगा। उद्योगपतियों का कर्ज माफ करने के लिए 550 करोड़ रुपये सरकार के पास थे, किसानों का कर्ज माफ करने के लिए सरकार के पास पैसे नहीं है।
कांग्रेस महासचिव ने कहा कि हमारी सरकार में कर्जदार किसान जेल नहीं जाएंगे। अपना कारोबार शुरू करने वाले नौजवान को तीन साल तक सरकारी परमीशन नहीं लेना होगा। जितने कारोबारी नौजवानों को रोजगार देंगे उतना ही टैक्स कम देना होगा। एक ही तरह का टैक्स लिया जाएगा। 24 लाख सरकारी पद खाली हैं। सरकार नौजवानों को रोजगार नहीं दे रही है। हमारी सरकार आते ही सभी 24 लाख पद भर दिए जाएंगे।

10 लाख ग्रामीण स्तर पर रोजगार दिए जाएंगे। मनरेगा 150 दिन का होगा। कांग्रेस ने कर्ज माफ करने को कहा तो सरकार ने कहा पैसे नहीं है, हमने अपने राज्यों की सरकारों में किसानों का कर्ज माफ किया।
संतकबीर नगर में बोली प्रियंका, किसानों का सम्मान नहीं अपमान कर रही भाजपा
संतकबीर नगर में भाजपा प्रत्‍याशी के पक्ष में आयोजित जनसभा में प्रियंका गांधी ने कहा कि भाजपा किसानों का सम्मान नहीं उनका अपमान कर रही है। किसान सम्मान निधि का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इसके तहत दी जाने वाली धनराशि पर्याप्त नहीं है। इस निधि से किसानों का मजाक बनाया गया है। प्रधानमंत्री के पास किसानों के लिए समय ही नहीं है। दिल्ली में किसानों ने धरना-प्रदर्शन किया, लेकिन उन्होंने मिलना उचित नहीं समझा। प्रियंका खलीलाबाद के जूनियर हाईस्कूल में कांग्रेस प्रत्याशी भालचंद्र यादव के पक्ष में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहीं थीं।

प्रधानमंत्री पर हमला जारी रखते हुए उन्होंने कहाकि उनके पास जापान में ढोल बजाने का समय है, पाकिस्तान में बिरयानी खाने का समय है, अमेरिका में राष्ट्रपति से मिलने का समय है, लेकिन किसानों के लिए समय नहीं है। अपने 27 मिनट के संबोधन में प्रियंका ने कहाकि भाजपा सरकार केवल प्रचार करती है। यह सरकार झूठी बातें करती हैं। प्रधानमंत्री ने पांच वर्ष पहले किए वादे में से कोई वादा पूरा नहीं किया। आज 24 लाख पद खाली हैं, उनको भरा नहीं जा रहा है। जबकि रोजगार देने की बात कही गई थी। कांग्रेस सरकार आने पर बीज व खाद समय से मिलेगा। इस सरकार के कार्यकाल में उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाया गया, जबकि जेलों में आवारा पशुओं को डाला जाा रहा है। नोटबंदी और जीएसटी से लोगों को नुकसान हुआ।
नोटबंदी के चलते लोगों को कतार में लगना पड़ा और उन्हें देशभक्ति का पाठ पढ़ाया गया। भाजपा सरकार ने रोजगार कम करने के साथ ही साथ मनरेगा को कमजोर किया। आज मनरेगा के तहत काम नहीं है। जेसीबी और ठेकेदारों से काम कराया जा रहा है। गांवों से पलायन जारी है। यह सरकार क्रोध, नफरत और नकारात्मकता की सरकार है। उन्होंने कांग्रेस के घोषणापत्र की बातों का उल्लेख करते हुए वोट की अपील की। प्रत्याशी भालचंद्र यादव को उन्होंने जमीनी नेता बताते हुए कहा कि भालचंद्र यादव को जिताइए, हम इस क्षेत्र का विकास कराएंगे।

प्रत्याशी भालचंद्र यादव ने कहा कि वह स्थानीय हैं, यहां की दिक्कतों को ठीक तरीके समझते हैं। उन्होंने अपना पूरा जीवन क्षेत्र के विकास के लिए दिया है।
बगल का मंच टूट तो पूछा, आपको कहीं चोट तो नहीं आई
प्रियंका गांधी जैसे ही मंच पर पहुंची, तभी कुछ दूरी बने मंच पर समर्थक चढ़ गए। नतीजा यह हुआ कि मंच टूट गया। प्रियंका ने अपने संबोधन की शुरुआत में ही कहा कि अापको कहीं चोट तो नहीं आई। यह सुनकर उत्साही समर्थकों ने प्रियंका गांधी जिंदबाद का नारा लगाना शुरू कर दिया।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप