आगरा, जेएनएन। मैनपुरी जिले में मंगलवार की भोर यूं तो आम दिनों की भांति ही धूप की तेजी के साथ ही हुई। गर्मी अपने उसी रूप में थी। मतदाताओं का उत्‍साह सुबह तो चरम पर था लेकिन गर्मी के तेवर तीखे होने के साथ ही मतदान केंद्रों पर सन्‍नाटा पसरता गया। दूसरी तरफ छोटी-छोटी समस्‍याओं को लेकर भी कुछ गांवों में मतदाता, मतदान से किनारा कर गए। दोपहर एक बजे से मतदान केंद्रों पर आई सुस्‍ती, शाम तक न टूट सकी। ऐसे में तीसरे चरण की मतदान प्रक्रिया के दौरान मैनपुरी जिले में कुल 57.37 फीसद ही मतदान हुआ। जबकि वर्ष 2014 में यह आंकड़ा 60.46 फीसद रहा था। यहां 3.09 फीसद की गिरावट देखने को मिली।  

सुबह छह बजे मैनपुरी लोकसभा सीट पर मतदान की प्रकिया शुरु हुई थी। दलों और प्रत्‍याशियों के एजेंटों के सामने हर बूथ पर मॉल पोल कराया गया। जिसमें बेवर क्षेत्र के रठेह मतदान बूथ मॉकपोल के दौरान ही चुनावकर्मी अटक गए। पूरी प्रकिया होने में काफी दिक्‍कते आईं। सेक्‍टर मजिस्‍ट्रेट ने फिर मोर्चा संभालते हुए अपने सामने पूरी प्रक्रिया कराई। इधर मतदान केंद्रों पर मतदाता सुबह सात बजे से पहले ही कतारों में खड़े नजर आए। 

ईवीएम ने दिया धोखा

मतदाताओं में जहां अपने मत का प्रयोग करने का उत्‍साह दिख रहा है तो वहीं ऐन मौके पर ईवीएम मशीनें धोखा दे रही हैं। भोगांव के नेशनल इंटरव्यू कॉलेज के बूथ संख्‍या 246 में ईवीएम में तकनीकी कमी होने के कारण मतदान देरी से शुरु हो सका। बेवर में भी यही हाल था। यहां प्राइमरी स्‍कूल धरमनेर पर बने मतदान केंद्र पर पीठासीन अधिकारी मॉकपोल तक नहीं करा सके। जबकि मतदाताओं की बाहर लाइन लगी रही। दन्‍नाहार के कंजाहार बूथ पर ईवीएम खराबी की शिकायत आई। मतदान शुरु होने के करीब एक घंटे बाद कुर्रा क्षेत्र के तीराहार, करहल के कनिकपुर और बेवर के मधुपुरी में भी ईवीएम खराबी के चलते मतदान रुक गया। मैनपुरी में किश्चियन केजी में भी ईवीएम खराबी के कारण एक घंटा देरी से मतदान शुरु हो सका। 

गायब हुए सूची से नाम

मतदाता सूची से नाम गायब होने का मामला भी सामने आया। कुरावली क्षेत्र के ग्राम बसुरा सुल्‍तानपुर की वर्तमान प्रधान बेबी शंखवार, उनके पति संजीव कुमार सहित परिजनों के नाम मतदाता सूची से गायब होने के कारण वे मतदान नहीं कर सके। वहीं जागीर के पर्वतपुर में आठ बजे तक एक भी मतदाता नहीं पहुंचा। 

ये हैं मैनपुरी के लड़ाके

मैनपुरी के चुनाव पर सबकी निगाहें टिकी हैं। यहां पर सपा संस्थापक और संरक्षक मुलायम सिंह पांचवीं बार मैदान में हैं। प्रेम सिंह शाक्य(भाजपा), ओमवीर लोधी (जन सेवा सहायक पार्टी), कुलदीप कुमार (भारतीय किसान पार्टी), चक्रपान (जन आदेश अक्षुणी सेना), तेज प्रताप सिंह जाटव (मौलिक अधिकार पार्टी), रजत कुमार (भारतीय जन नायक पार्टी), रविंद्र सिंह कटार (भारतीय नवोदय पार्टी),श्याम सिंह( स्वतंत्र जनताराज पार्टी), हरीराम शाक्य( वोटर्स पार्टी इंटरनेशनल), रविंद्र सिंह यादव( निर्दलीय), सवेंद्र सिंह( निर्दलीय)।

कुल मतदान केंद्र

मतदान केंद्र - 1590

मतदान बूथ - 2179

क्रिटिकल मतदान केंद्र - 260

क्रिटिकल मतदान बूथ - 393

वर्ष 2014 का लोकसभा चुनाव

- 60.46 फीसद था कुल मतदान

- 54.48 फीसद पुरुष मतदान

- 45.52 फीसद महिला मतदान

वर्ष 2019 का लोकसभा चुनाव

1.72 लाख कुल मतदाता

9.32 लाख पुरुष मतदाता

7.89 लाख महिला मतदाता

57 अन्य मतदाता

22000- युवा वोटर

Posted By: Prateek Gupta