लखनऊ [अजय श्रीवास्तव]। शहर में चुनाव का रिमोट कुछ हाथों में ही है। भाजपा, सपा और कांग्रेस उम्मीदवार के केंद्रीय चुनाव कार्यालय से ही छह मई को होने वाले मतदान की रणनीति बन रही है। कहां सभा होनी और किस इलाके में जनसंपर्क होना है? हर कार्यक्रम के लिए जिम्मेदारियां तय की जा रही है। हालांकि अभी केंद्रीय चुनाव कार्यालयों में सरगर्मियां तेज नहीं हो पाई है, लेकिन आगे की कार्य योजनाओं को खाका मजबूती से बन रहा है। दैनिक जागरण ने चुनावी वार के लिए तैयार हो गए उम्मीदवारों के केंद्रीय चुनाव कार्यालय का हाल लिया। 

भाजपा

दोपहर के ढाई बजे थे। रूपचंद्र अग्रवाल कंप्यूटर के पास बैठकर कार्ययोजना तैयार कर रहे थे। कल-कल क्या होना है और टोली गमछा कहां-कहां जाना हैं, तभी आवाज आती है कि उमा भारती की शाम को मडिय़ांव में सभा है। चर्चाओं के बीच कार्यकर्ता जुटने लगते हैं। बुजुर्ग जीएन सेठ और एसपी तिवारी एक रजिस्टर पर आने वाले कार्यकर्ताओं के नाम व मोबाइल नंबर दर्ज कर रहे थे। कुछ ऐसी ही गतिविधियां केंद्रीय गृहमंत्री व भाजपा उम्मीदवार राजनाथ सिंह के केंद्रीय कार्यालय में चल रही थीं। 

कम्प्यूटर ऑपरेटर सुनीत त्रिपाठी चुनाव से जुड़ी सारी जानकारियां दर्ज करने के साथ ही विधानसभा क्षेत्र में बने चुनावी कार्यालयों में निर्देश मेल कर रहे थे। हलवासिया मार्केट में बने चुनाव कार्यालय में लखनऊ संसदीय सीट की सारी गतिविधियां संचालित हो रही है। पूर्व पार्षद साकेत शर्मा, अंजनी सिंह टोपियां लेने पहुंचे थे। वैसे तो इस कार्यालय को निर्देश दिलकुशा गार्डन में राजनाथ सिंह के आवास से भी मिल रहे हैं। सोशल मीडिया से प्रचार करने के लिए अलग ही टीम सक्रिय है। बीस से अधिक कमेटियों को अलग-अलग जिम्मेदारियां दी गई हैं। 

समाजवादी पार्टी 

दोपहर सवा तीन बजे थे। विधान परिषद सदस्य व लखनऊ चुनाव प्रभारी आनंद सिंह भदौरिया कैसरबाग कार्यालय में सहयोगियों के साथ चर्चा में लीन थे। भदौरिया कैसरबाग में केंद्रीय चुनाव कार्यालय (महानगर सपा कार्यालय) में महानगर अध्यक्ष फाकिर सिद्दीकी, पार्षद देवेंद्र सिंह यादव, उपाध्यक्ष अमित सक्सेना, नवीन धवन बंटी, सौरभ यादव, विजय यादव और सागर यादव के साथ आगे के कार्यक्रम की रूपरेखा बना रहे थे। शत्रुघ्न सिन्हा की दो से चार मई के बीच होने वाली जनसभाओं और रोड शो का कार्यक्रम तय हो रहा था। नाका चौराहे पर सभा कैसी रहेगी? किसी ने कहा, इससे अच्छी तो वशीरतगंज चौराहे पर ठीक रहेगी, भीड़ भी होगी। कंप्यूटर ऑपरेटर सुमित वर्मा सारी सूचनाओं को एकत्र कर रहे थे कि उम्मीदवार पूनम सिन्हा आज कहां-कहां गईं और कल कार्यक्रम क्या है। क्षेत्रीय कार्यालयों के प्रभारियों को भी सूचनाएं भेजी जा रही हैं। सोशल मीडिया से प्रचार करने की अलग टीम है, जो पूनम के बेटे कुश संभाले हैं। 

कांग्रेस 

पिता के चुनाव की कमान संभालने गाजियाबाद से आए सार्थक त्यागी अपनी टीम के साथ प्रचार के तरीकों पर चर्चा कर रहे थे। सोशल मीडिया के माध्यम से वह हर मतदाता तक अपनी बात पहुंचाने की रणनीति पर जोर दे रहे हैं। कांग्रेस उम्मीदवार आचार्य प्रमोद कृष्णम का चुनाव बेटे सार्थक के अलावा भाई संजीव त्यागी ने संभाल रखा है। कैसरबाग के सलेमपुर हाउस में पुराने कांग्रेसी भी जुटे थे। प्रत्याशी आचार्य प्रमोद कृष्णम पूर्व विधायक श्याम किशोर शुक्ला, विनोद चौधरी, पार्षद मोहम्मद हलीम, पूर्व पार्षद प्रदीप कनौजिया, यूथ ब्रिगेड के प्रदेश अध्यक्ष अनीस खान वारसी और विभिन्न संगठनों के साथ बैठक कराने की तैयारियां कर रहे थे। कुछ भोजन का तो कुछ चाय की चुस्कियों का आनंद ले रहे थे। कांग्रेस के स्टार प्रचारकों की सूची फाइनल हो रही थी कि किसकी सभा कहां कराई जाए, जिससे वोटर पर प्रभाव डाला जा सके तो रोड शो प्रियंका गांधी का ही कराने पर सहमति बनी। 

Posted By: Divyansh Rastogi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप