वाराणसी [विकास बागी]। लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में किला फतह करने के लिए बीजेपी मास्टर स्ट्रोक खेलने की तैयारी में है। बीजेपी की रणनीति के तहत 19 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी में होंगे। मतदाताओं से शत-प्रतिशत मतदान की अपील करने के लिए मोदी 18 या 19 को काशी की जनता से संपर्क करने करने सड़क पर भी पैदल चल सकते हैं। मोदी अगर मतदान के दिन बनारस में मौजूद रहेंगे तो यह भाजपा का मास्टर स्ट्रोक होगा। काशी में मतदान का प्रतिशत तो बढ़ेगा ही, पूर्वांचल की अन्य सीटों पर भी जबरदस्त प्रभाव पड़ेगा। मोदी के तीन दिवसीय कार्यक्रम की रूपरेखा व संगठन की अब तक की तैयारियों की रिपोर्ट लेने सोमवार की शाम भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वाराणसी पहुंचे। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 16 मई को चंदौली में होंगे। चंदौली में जनसभा के बाद रात्रि प्रवास वाराणसी में करेंगे। भाजपा के विश्वस्त सूत्रों ने बताया कि 17 को मोदी काशी विश्वनाथ मंदिर, संकट मोचन मंदिर में दर्शन-पूजन करने निकलेंगे। 17 की शाम मोदी दिल्ली लौट जाएंगे और फिर 18 को वाराणसी आएंगे। 18 रात्रि प्रवास के बाद मोदी 19 को दोपहर बाद प्रस्थान करेंगे। 

दरअसल, भाजपा को रिपोर्ट मिली है कि वाराणसी समेत पूर्वांचल की अन्य सीटों पर मतदान का प्रतिशत गिर सकता है। मतदान का प्रतिशत गिरने से भाजपा को नुकसान तो होगा ही। 15 मई को प्रियंका वाड्रा काशी में रोड शो करेंगी तो 16 को मायावती और अखिलेश यादव की जनसभा है। विपक्षियों की मतदान से पूर्व अंतिम क्षणों में काशी में प्रचार की रणनीति से कार्यकर्ता परेशान हैं। पीएम को रिकार्ड अंतर से जीत दिलाने की मुहिम को भी झटका लग सकता है। खुफिया रिपोर्ट के बाद संघ व भाजपा ने प्रधानमंत्री के इस कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार की है। अखिलेश, मायावती और प्रियंका तो मतदान और उससे एक दिन पूर्व काशी में नहीं रह सकते हैं लेकिन बतौर प्रत्याशी मोदी काशी में प्रवास कर सकते हैं। 

होने के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वाराणसी पहुंचे। अमित शाह ने महमूरगंज स्थित केंद्रीय चुनाव कार्यालय में कार्यकर्ताओं से मुलाकात के बाद अमेठी कोठी में संगठन के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। उधर, सीएम योगी ने भी मंत्री- विधायक, संगठन से पदाधिकारियों के साथ बैठक कर अब तक हुई तैयारियों की रिपोर्ट ली। भाजपा की तरफ से प्रधानमंत्री के आगमन की तैयारियां शुरू कर दी गई है।

कार्यकर्ताओं से मुलाकात के बाद अमेठी कोठी में बनी रणनीति : पश्चिम बंगाल में जनसभा के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह देर शाम वाराणसी पहुंचे। महमूरगंज स्थित केंद्रीय चुनाव कार्यालय पहुंचे शाह का भाजपा कार्यकर्ताओं ने गाजे बाजे के साथ माल्यार्पण कर स्वागत किया। केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा, संगठन सहप्रभारी सुनील ओझा, कैबिनेट मंत्री आशुतोष टण्डन, संगठन महामंत्री सुनील बंसल, महेश चंद श्रीवास्तव के साथ बैठक से पूर्व कार्यकर्ताओं से कहा कि बूथ पर पूरा जोर लगा दें। हर घर का हर मतदाता मतदान केंद्र पर हो, ये सुनिश्चित करें। इस दौरान काशी क्षेत्र उपाध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह, मनीष कपूर, विद्यासागर राय, अशोक तिवारी, नवरतन राठी समेत अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

योगी ने काशी विश्वनाथ का किया दर्शन, पदाधिकारियों संग की बैठक : देर शाम वाराणसी पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ ने सर्किट हाउस में अल्प विश्राम के दौरान राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी, महामंडलेश्वर संतोष दास सतुआ बाबा, अंबरीष सिंह भोला से मुलाकात की। बातचीत के बाद देर रात मुख्यमंत्री बाबा दरबार पहुंचे। काशी विश्वनाथ के दर्शन-पूजन के बाद विश्वनाथ धाम कारिडोर के चल रहे कार्य की प्रगति के बाबत कमिश्नर से बात की। 

भाजपा महिला मोर्चा ने संभाली कमान 226 सेक्टरों पर 226 की टीम : शत प्रतिशत मतदान को लेकर पीएम मोदी के आह्वान के बाद भाजपा महिला मोर्चा ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। मोदी के मतदान के दिन काशी में होने की जानकारी मिलते ही भाजपा महिला मोर्चा की टीम सक्रिय हो गई। मातृ शक्ति अभियान के तहत वाराणसी लोकसभा क्षेत्र के साढ़े चार लाख परिवारों तक पहुंचने के लिए सेक्टर स्तर पर महिलाओं की 226 टोलियों का गठन किया गया।  सहप्रभारी सुनील ओझा ने बताया कि सभी विधान सभाओं में प्रभारियों की नियुक्ति की गई है लोकसभा की प्रभारी श्रीमती निर्मला सिंह पटेल को बनाया गया है। शहर उत्तरी में कुसुम पटेल, दक्षिणी में साधना वेदान्ती को, कैंट में साधना पांडेय, रोहनिया में सीमा ओझा को एवं सेवापुरी विधान सभा को सुनीता सिंह को प्रभारी बनाया गया है। लोकसभा के 226 सेक्टरों में महिलाओं की 226 टीमें बनाई गई हैं। एक टीम में 5 महिलाएं होंगी जिन्हें लोकसभा क्षेत्र के साढ़े चार लाख परिवारों से संपर्क का टारगेट दिया गया है।

पंद्रह को सुषमा संभालेंगी मोर्चा : काशी की महिलाओं की मतदान में शत प्रतिशत भागीदारी सुनिश्चित कराने के लिए पंद्रह मई को सुषमा स्वराज भी बनारस में होंगी। सुषमा स्वराज को सांस्कृतिक संकुल में मातृ शक्ति सम्मेलन को संबोधित करेंगी और वहीं से स्कूटी रैली को झंडी दिखाकर रवाना करेंगी। 

पंजा छोड़ थामा कमल का फूल : हर दल में सेंधमारी का खेल चल रहा है। कोई समर्थन दे रहा तो कोई हाथ खींच रहा। गढवासी टोला के कांग्रेस के पूर्व  पार्षद दिलीप यादव अपने साथियों के साथ कांग्रेस को बाय-बाय करते हुए भाजपा में शामिल हो गए। प्रदेश के कैबिनेट मंत्री आशुतोष टण्डन की मौजूदगी में दिलीप ने अपने समर्थकों के साथ पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप