मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

बांदा, जेएनएन। लोकसभा चुनाव 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सारा जोर पार्टी को अधिक से अधिक सीट दिलाने का है। दरभंगा के बाद पीएम मोदी बुंदेलखंड पहुंचे। पीएम मोदी बांदा में भाजपा प्रत्याशी आरके सिंह पटेल के पक्ष में भाजपा विजय संकल्प रैली में सपा-बसपा के साथ कांग्रेस पर भी जमकर बरसे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुंदेलखंड में अगले पांच साल में पानी की समस्या खत्म करने और किसानों को पेंशन का वादा किया है। उन्होंने साथ ही कहा, सपा, बसपा और कांग्रेस जाति-पात, पंथ-संप्रदाय तक ही सोच सकते हैं। यह सब आतंकवाद खात्मे की बात नहीं करते है क्योंकि इन्हें अपने वोट बैंक की चिंता है। जो वोटबैंक के लिए मरते हैं वो देश को मरवाते हैं। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वर्ष 2014 में पूरे बुंदेलखंड ने इतिहास बनाया था, इस बार भी वही जोश वही जज्बा देखकर हैरान हूं, मैं आपका प्यार, आपका आशीर्वाद का सर झुकाकर नमन करता हूं। उन्होंने कहा कि जो दिल्ली में एयरकंडीकंड कमरों में बैठकर हिंदुस्तान को भ्रमित कर रहे हैं, उन्हें पता नहीं कि जनता की असली ताकत क्या होती है। 

अब ईवीएम का राग अलाप रहे विरोधी

पीएम ने कहा कि तीन सौ सीटों पर वोट पडऩे के बाद जो खबरें आ रही हैं, उससे कुछ लोगों के चेहरे लटक रहे हैं। अब इन्होंने फिर से ईवीएम का राग छेड़ दिया है। चुनाव आधा पूरा हुआ है, आधे चुनाव तक वो पूरा समय मोदी को गाली देते रहे लेकिन बात बनी नहीं तब गाली देने वाला तरीका मोदी से हटाकर ईवीएम पर ले गए है। अब आधा चुनाव ईवीएम को गाली देने में निकाल देंगे। आखिर इनके हाथ में क्या लगेगा, इतनी गालियां इतनी झूठी बातों के बाद इनके हाथ लगेगा जीरो बटा सन्नाटा। 

इनके पल्ले नहीं पड़ती एक भारत, श्रेष्ठ भारत की बात

प्रधनमंत्री ने कहा कि सपा और बसपा वाले मेरी जाति का सर्टिफिकेट बांटने में जुटे हैं। कांग्रेस के नामदार मोदी के बहाने पूरे पिछड़े समाज को ही गाली देने में लगे हैं, इनकी रजानीति का यही सार है। जाति-पात, पंथ-संप्रदाय, ये उससे आगे सोच ही नहीं सकते हैं। एक भारत श्रेष्ठ, भारत की बात इनके पल्ले नहीं पड़ती है। अगर यही करते रहेंगे तो उनकी दुकानों को अलीगढ़ का ताला लगना पक्का है। जमीन से कट चुके ये लोग इस बार अपने ही खेल में फंस गए हैं। इनको पता ही नहीं चला 21वीं सदी का वोटर ये नौजवान, जिनके जिंदगी के सारे सपने अधूरे हैं। वो ख्वाब लेकर चला है, ख्वाहिश लेकर पैदा हुआ है, उसके लिए खपने को तैयार है। 21वीं सदी में पैदा हुआ है और पूरी सदी उसके सामने पड़ी है। यह जाति के समीकरण बिठाते रहे हैं और हमारे युवा विकास की राजनीति के साथ खड़े हो गए हैं। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस बार नौजवान नये भारत नये संस्कारों का निर्माण कर रहा है क्योंकि उसपर अतीत का बोझ नहीं बल्कि उसके पास सिर्फ भविष्य के सपने हैं। मैं दल की नही देश की बात कर रहा हूं। इस धरती पर रानी झांसी को याद किया जाता है, उस धरती पर मेरा मन करता है कि देश की बात करुं। हमारे देश के बलिदानी भगत सिंह, सुख देव, राजगुरु, चंद्रशेखर आजाद, रानी लक्ष्मी बाई, सुभाषचंद्र बोस के लिए कोई पूछता है कि कौन से जाति के थे। एक भी महापुरुष अपनी जाति से नहीं जाना जाता है। दांडी यात्रा 1930 की स्वर्णिम यात्रा में गांधी जी के साथ चलने वाले कितने लोग थे। उनमें कौन किस जाति का था तब किसी ने पूछा, हर कोई भारतवासी था। अंडमान निकोबार में काला पानी की सजा काटने वाले काल कठोरी में आजादी के लिए जंजीरों में जकडऩे वाले किस जति में पैदा हुआ था, किसी ने चर्चा की। सभी ने एक साथ मिलकर मुकाबला किया ओर देश को आजाद कराया। हर एक भारतीय था और हर एक के लिए भारत माता थी। तब स्वराज के लिए लड़ रहे थे। आजादी के 75 साल मनाने से पहले यह आखिरी चुनाव है। जब जितनी छटपटाहट आजादी पाने की थी आज वही मिजाज विकास को आगे बढ़ाने के लिए पैदा हुआ है। स्वराज के बाद अब देश जाति के बंधन को तोड़कर सुराज हासिल करेगा। 

जाति में बांटने वाले हैरान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नये भारत की यात्रा में ऐसे लोगों से सतर्क रहना है, जो देश को पुराने दौर में ले जाना चाहते हैं। आजादी के इतने वर्षों तक जाति बिरादरी पर वोट मांगे और सत्ता में आते ही बदले की राजनीति शुरू हो जाती है। क्षेत्रों के आधार पर भेदभाव किया है। बुंदेलखंड को अंधेरे में रखने का पाप इसी राजनीति की वजह से हुआ। पिछले बार इस भेदभाव को आपने तोड़ा और इस चौकीदार को देश को सौंपा। आपका ये चौकीदार संवेदनशीलता से प्रयास कर रहा है। बुंदेलखंड की महिलाओं व बहनों का पानी के लिए सघंर्ष को मैने जीआ है, मैंने दर्द को देखा है। जिस तरह महिलाओं को गैस चूल्हा देकर धुएं से और शौचालय बनवाकर उनकी सुरक्षा की है अब इस बार बारी पानी की है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि एक महीने बाद 23 मई को चुनाव के परिणाम आएंगे, साथियों उस दिन जब फिर एक बार...कहा तो जनता से मोदी सरकार, फिर एक बार मोदी सरकार का नारा लगवाया। उन्होंने कहा, तब पानी के लिए मिशन मोड पर काम किया जाएगा। पांच साल गांव-गांव बिजली पहुचने के लिए थे, आने वाले पांच साल पानी पहुंचाने के लिए जी जान से जुटेंगे। हमने संकल्प लिया है कि पानी के लिए अलग से जल शक्ति मंत्रालय बनाया जाएगा। नदियां हो या वर्षा का पानी, सभी जल संसाधनों से तकनीक का उपयोग करके जरूरत की जगह तक पानी पहुंचाया जाएगा। बुंदेलखंड की नदियों को नई धारा देने के लिए प्रयास किया जाएगा। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ माह पहले झांसी आया था तब नौ हजार करोड़ रुपये की पेयजल योजना का शिलानयास किया था। यह पाइप लाइन परियोजना पूरी होने पर बुंदलेखंड को लाभ मिलेगा। पानी आएगा तो खेतों की प्यास बुझेगी। पूर्ववर्ती सपा बसपा सहयोग से चली कांग्रेस सरकार ने सैकड़ों सिंचाई परियोजनाओं को लटका कर रखा था। दशकों से लटकी फटकी 99 परियोजनओं का पूरा करने की शुरुआत की। बाढ़ सागर सिंचाई परियोजना लटकी थी, हमारी सरकार ने उसे पीएम कृषि सिंचाई योजना में शामिल कर राष्ट्र को समिर्पित किया। इलाहाबाद समेत कई जगह बाढ़ सागर नहर से पानी पहुंच रहा है। उन्होंने कहा जो पानी की सिंचाई परियोजना को लटकाते हैं क्या ऐसे लोगों को माफ किया जा सकता है। नहीं ना, ऐसे लोगों को आप पक्का सजा देंगे न। जनहित के लिए बड़े काम तभी होते हैं, जब सत्ता में समर्पण और सेवा भाव से काम किया जाता है। 

किसानों को पेंशन का वादा

पीएम ने कहा, भारत के लिए इतिहास में पहली बार किसानों के लिए सीधी मदद स्कीम भी मोदी सरकार ने बनाई है। पीएम किसान सम्मान निधि के तहत हर वर्ष देश के करीब बारह करोड़ सीमांत किसानों के बैंक खाते में पैसे आ रहे हैं। यूपी में एक करोड़ किसानों के खाते में पहली किस्त पहुंच चुकी है। ये पैसे आपके हक के है और आपकी सहायता के लिए हैं, इसके कभी लौटाना नहीं पड़ेगा। फिर एक बार छोटे किसान, खेतों में काम करने वाले कामगार और छोटे दुकानदार हैं, उनके लिए भी पेंशन योजना बनाने वालें हैं। साठ साल बाद ऐसे लोगों को पेंशन मिले ताकि उसे किसी के सामने हाथ फैलाने की नौबत न पड़े। बुंदेलखंड में खेती के साथ औद्योगिक विकास के लिए भी महत्वपूर्ण प्रयास किये जा रहे हैं। बुंदेलखंड एक्सप्रेस से तस्वीर बदलने वाली है। झांसी से आगरा तक बन रहा डिफेंस कॉरीडोर भारत में सेना के अस्त्र शस्त्र बनाने के अभियान को मजबूत करेगा। इससे बुंदेलखंड और उत्तर प्रदेश के युवाओं को रोजगार के अवसर भी पैदा करेगा। 

पीएम मोदी ने कहा कि आठ सीट, बीस और चालीस सीट पर लडऩे वाले भी सोच रहे है कि प्रधानमंत्री बनेंगे। जितने चेहरे प्रधानमंत्री का दावा करने वाले हैं आपको याद है ना। इसमें एक मेरा नाम भी है, सबसे ज्यादा सीटों पर लडऩे वाली भाजपा मेरा नाम बता रही है। जितने चेहरे हैं जो प्रधानमंत्री की कतार में खड़े हैं, इनमें कौन है जो आतंकवाद मिटा सकता है। ये अकेला मोदी नहीं कर सकता, आपके एक वोट से होने वाला है। आपके वोट की ताकत एक सौ तीस करोड़ गुना ज्यादा है। आपका वोट और ये चौकीदार, दोनों मिलकर करके आतंकवाद का खात्मा करेगा। 

पीएम ने कहा, आतंकवाद कैसे खत्म करेंगे, इसको लेकर सपा बसपा ने कोई योजना रखी है। कांगेस वालों या उनके किसी चेले चपड़े ने रखी है। ये तो इतने डरे हैं कि आतंकवाद बोलेंगे तो उनके वोटबैंक खिसक जाएगा। इनको देश की चिंता नहीं वोटबैंक की चिंता है, जो वोटबैंक के लिए मरते हैं वो देश को मरवाते हैं। मोदी दल के लिए नहीं देश के लिए पैदा हुआ है, मोदी अपने लिए अपनों आपके लिए पैदा हुआ है। फिर इस बार सबक सिखाना है ताकि ऐसे दलों को एक संदेश जाए और वो भारत को मजबूत करने के लिए मजबूर हो जाए। आप सभी चौकीदारों पर ये बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। मैं आपको वादा करता हूं आप जब कमल का बटन दबाओगे तो आपका सीधा सीधा वोट मोदी के खाते में जमा होगा। आपका वोट आजादी के दीवानों के सपनों को पूरा करने वाला है। देश के विकास के सपनों से जुड़ा और देश की सुरक्षा की गारंटी है।

पीएम मोदी ने कहा कि बुंदेलखंड में मां भारती के गौरव गान की पुरानी परम्परा है। आज जब मैं यहां पहुंचा तो एक वीर जवान को नमन करने का मौका मिला। वो कतार में मेरे स्वागत के लिए खड़े थे। जब संसद में हमला हुआ था तो इसी धरती के उस वीर जवान छह गोलियां झेली थीं। बांदा में कृषि विश्वविद्यालय मैदान में भाजपा की विजय संकल्प रैली में दोपहर समर्थकों ने हम सब चौकीदार और भारत मां का लाल आया जैसे नारे लगाकर प्रधानमंत्री का स्वागत किया। 

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप