कानपुर, जेएनएन। अखिल भारतीय वैश्य महापरिषद के तत्वावधान में बुधवार को लाजपत भवन मोतीझील में आयोजित व्यापारी महासम्मेलन में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने जीएसटी, राष्ट्रवाद, विकास का मुद्दा उठाया। कानपुर सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार व पूर्व केंद्रीय मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल पर हमला बोला। आरोप लगाया कि पूर्ववर्ती सरकार में काम नहीं हुए बल्कि तमाम प्रोजेक्ट का फर्जी तरीके से शिलान्यास करके वाहवाही लूटने की कोशिश की गई।

रेल मंत्री ने कहा कि 2014 में भाजपा सरकार में वह बिजली मंत्री बने तो उन्हें घाटमपुर पॉवर प्रोजेक्ट के बारे में बताया गया। उन्होंने पड़ताल कराई तो जानकारी मिली कि कोयला मंत्री रहते श्रीप्रकाश जायसवाल ने जिस योजना का शिलान्यास किया है, उसके लिए न तो जमीन चिह्नित हुई और न पैसा था। कोयला आवंटन भी नहीं किया गया था। नरेंद्र मोदी पीएम बने तो इस योजना को आगे बढ़ाया। आज यह पॉवर प्रोजेक्ट समय से पहले पूरा होने जा रहा है। आरोप लगाया कि पूर्ववर्ती सरकार में खूब फर्जी शिलान्यास हुए। महासम्मेलन की अध्यक्षता उद्योगपति सुरेंद्र गुप्ता गोल्डी ने की।

गिनाई उपलब्धियां, किया अच्छे दिनों का वादा

पीयूष गोयल ने केंद्र सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। बताया कि भाजपा सरकार ने इनकम टैक्स का दायरा पांच लाख तक कर दिया। 40 लाख रुपये तक टर्नओवर वाले व्यापारी जीएसटी से मुक्त हैं। पांच करोड़ तक टर्नओवर वाले व्यापारी तीन महीने में जीएसटी रिटर्न भर सकते हैं। 500 से अधिक वस्तुओं में जीएसटी घटा है। भाजपा का लक्ष्य है कि व्यापार कुछ लोगों तक ही न सिमटे। मोदी सरकार सभी को कमाई का समान अवसर देना चाहती है। आगे भी व्यापारियों के हित के लिए सरकार काम करेगी। दावा किया कि अगले कुछ वर्षों में कमाई चार गुना तक बढ़ेगी।

आतंकवाद पर किया जोरदार प्रहार

रेल मंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार ने आतंकवाद पर जोरदार प्रहार किया है। मुम्बई हमले के बाद तत्कालीन सरकार ने कुछ नहीं किया था बल्कि भाजपा ने बालाकोट में सर्जिकल स्ट्राइक से आतंकियों की कमर तोड़ दी। उन्होंने वंदे भारत एक्सप्रेस का भी जिक्र किया और कहा कि इससे दुनिया में मेक इन इंडिया की छवि मजबूत हुई है। उन्होंने कहा कि इस बार प्रयाग कुंभ में बेहतर सुविधाएं थीं और गंगाजल भी साफ था। वर्ष 2022 तक गंगा पूरी तरह से साफ होंगी।

व्यापारियों ने उठाया फर्रुखाबाद रेल ट्रैक का मुद्दा

महासम्मेलन में उद्यमी मनोज बंका और गुरुप्रसाद अग्रवाल ने अनवरगंज- फर्रुखाबाद रेलवे टै्रक की वजह से लगने वाले जाम का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि रेलवे ट्रैक हटाकर यहां मेट्रो चलाई जाए और फ्लाईओवर के नीचे बाजार विकसित किए जाएं। इससे इसके निर्माण में होने वाला खर्च भी निकल आएगा। व्यापारियों ने रेलवे लाइन को शहर के विकास के लिए नासूर बताया।  

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप