श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने जेकेएलएफ चेयरमैन मोहम्मद यासीन मलिक की तत्काल रिहाई और जमात-ए-इस्लामी पर पाबंदी को हटाने की मांग करते हुए कहा कि केंद्र सरकार को कश्मीर में बाहुबली की नीति को छोड़ देना चाहिए। साथ ही उन्होंने मौजूदा चुनाव प्रक्रिया का जिक्र करते हुए कहा कि पीडीपी इन चुनावों में सिर्फ 370 और 35 ए के संरक्षण के लिए लड़ रही हैं। पीडीपी कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करते हुए महबूबा मुफ्ती पूरी तरह केंद्र पर हमलावर नजर आई। पीडीपी कार्यकर्ता ने जमात ए इस्लामी पर पाबंदी हटाने, क्रास एलओसी ट्रेड को तुरंत बहाल करने और जेकेएलएफ चेयरमैन मोहम्मद यासीन मलिक की तत्काल रिहाई के हक की बात भी की। यहां यह बताना असंगत नहीं होगा कि अनंतनाग-पुलवामा संसदीय क्षेत्र की तीन चरणों की मतदान प्रक्रिया के तहत बुधवार को छह विधानसभा क्षेत्र में फैला अनंतनाग जिले में मतदान प्रक्रिया संपन्न हो गई। अब जिला कुलगाम और पुलवामा व शोपियां में ही मतदान होना है।

हाईवे पर आम नागरिकों के वाहन पर पाबंदी गलत : महबूबा

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि हाईवे पर आम लोगों की पाबंदी, क्रॉस एलओसी ट्रेड को बंद किया जाना, नई दिल्ली की कश्मीरियों के प्रति मस्कुलर पॉलिसी का सुबूत है। इससे कश्मीर में हालात सुधरेंगे नहीं बिगड़ेंगे। यहां लोगों को राहत दिए जाने की जरूरत है, लेकिन नई दिल्ली खुद यहां के लोगों में विमुखता को बढ़ा रही है। उन्होंने कह कि चुनाव में जीत हासिल करने के लिए केंद्र में सत्तासीन भाजपा कश्मीर को एक हथियार की तरह इस्तेमाल कर रही हैं।

विचारों को कैद नहीं किया जा सकता

महबूबा मुफ्ती ने जमात ए इस्लामी पर पाबंदी को तुरंत हटाने की मांग करते हुए कहा कि आप विचारों को कैद नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि जब मैं मुख्यमंत्री थी तो उस समय भी केंद्र सरकार ने मुझ पर जमात को प्रतिबंधित करने का दबाव बनाया था। लेकिन मैने इन्कार कर दिया था।

सत्ता में आई तो जमात कार्यकर्ताओं को करेंगे रिहा

पीडीपी अध्यक्षा ने कहा कि सत्ता में आने पर हम सभी जमात कार्यकर्ताओं को रिहा करेंगे। मोहम्मद यासीन मलिक बहुत बीमार हैं। उन्हें रिहा किया जाना चाहिए। सभी जानते हैं कि उन्होंने ङ्क्षहसा का रास्ता छोड़ कर कश्मीर मसले के हल के लिए सियासी तौर पर लड़ रहे हैं। लेकिन उन्हें जेल में डाला गया है, जबकि साध्वी प्रज्ञा जैसे लोगों को जमानत पर रिहा किया गया है।

लोकसभा चुनाव जम्मू कश्मीर के लिए अहम

महबूबा मुफ्ती ने शोपियां में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए यहां 6 मई हो होने जा रहे मतदान में ज्यादा से ज्यादा मतदान को यकीनी बनाने के लिए मतदाताओं के बीच पूरी तरह सक्रिय रहने को कहा। उन्होंने कहा कि लोगों को बताया जाए कि यह चुनाव रियासत के लिए बहुत अहम हैं। उन्होंने कहा कि नेकां और कांग्रेस ने राज्य के विशेष दर्जे को नुकसान पहुंचाया है।

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप