पटना [जेएनएन]। बिहार में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में पांच लोकसभा सीटों (भागलपुर, बांका, पूर्णिया, कटिहार व किशनगंज) पर मतदान जारी है। लोकतंत्र के इस महापर्व को लेकर बुजुर्गों काभी रूझान देखा जा रहा है। मतदान केंद्रों पर सौ साल से अधिक के वृद्ध भी वोट देते नजर आ रहे हैं। वृद्धों को आम लोगों के साथ सुरक्षा बलों के जवान भी मदद कर रहे हैं।
अच्‍छा लगता है मतदान
भागलपुर के कहलगांव स्थित मतदान केंद्र संख्‍या 110 पर करीब 105 साल की एक वृद्ध महिला प्रिया देवी वोट डालने पहुंचीं। वोट देने के बाद परिजनों का सहारा लेकर मतदान केंद्र से बाहर निकलने पर उन्‍होंने बताया कि वोट देना उन्‍हें अच्‍छा लगता है। भागलपुर के ही एक मतदान केंद्र पर करीब 95 साल की सुनयना देवी कहतीं हैं कि उन्‍होंने गुलामी कादौर देखा है। इसलिए आजाद भारत में अपनी सरकार का महत्‍व समझतीं हैं। कहतीं हैं कि वोट देकर ही अपनी सरकार बनाई जा सकती है।

मदद को आगे आया जवान
वोट का महत्‍व तो 90 साल की उषा देवी भी समझतीं हैं। भागलपुर के आदर्श मतदान केंद्र संख्‍या 39 पर जब वे वोट देने पहुंचीं तो वहां तैनात सुरक्षा बल का एक जवान उनकी मदद के लिए आगे आया। कटिहार में भी एक युवा शमशाद आलम अपनी वृद्ध अम्‍मा को गोद में लेकर वोट दिलवाने मतदान केंद्र पर पहुंचे। शमशाद के अनुसार अम्‍मा बीमार हैं। उन्‍हें लाने का कोई साधन नहीं था और वोट भी जरूरी है। इसलिए गोद में ही लेकर आ गए। शमशाद ने भी इस साल पहली बार वोट दिया।

जुगाड़ गाड़ी से ही पहुंच गए बूथ पर
किशनगंज के दिघलबैंक स्थित सिंघीमारी मतदान केंद्र पर एक बुजुर्ग अपने अंदाज में वोट देने पहुंचे। पैदल आ नहीं सकते थे, सो अपनी जुगाड़ गाड़ी से ही मतदान केंद्र आ पहुंचे।

दिनोंदिन मजबूत हो रहा लोकतंत्र
बहरहाल, मतदान जारी है। इसमें बुजुर्गों कायह उत्‍साह बताता है कि हमारा लोकतंत्र दिनोंदिन मजबूत होता जा रहा है।

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप