नई दिल्ली, पीटीआइ। नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने कहा कि बापू सत्ता और राजनीति से ऊपर हैं और भोपाल से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर जैसे लोग भारत की आत्मा को मार रहे हैं। भाजपा को छोटे से राजनीतिक फायदे का मोह छोड़कर प्रज्ञा को तत्काल पार्टी से निकाल कर अपना राजधर्म निभाना चाहिए।

कैलाश सत्यार्थी ने शनिवार को ट्वीट करते हुए कहा कि गोडसे ने महात्मा गांधी के शरीर की हत्या की थी, लेकिन प्रज्ञा जैसे लोग उनकी आत्मा की हत्या के साथ, अहिंसा, शांति, सहिष्णुता और भारत की आत्मा की हत्या कर रहे हैं। गांधी हर सत्ता और राजनीति से ऊपर हैं।

प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने गुरुवार को कहा था कि गोडसे एक देशभक्त थे, एक देशभक्त हैं और एक देशभक्त रहेंगे। जो लोग उन्हें आतंकवादी कहते हैं, उन्हें इस चुनाव में जवाब मिलेगा। प्रज्ञा अभिनेता से नेता बने कमल हासन की उस टिप्पणी पर प्रतिक्रिया दे रही थीं, जिसमें उन्होंने गोडसे को पहला हिंदू आतंकवादी बताया था। हालांकि बाद में प्रज्ञा ने माफी मांग ली थी।

पीएम ने कहा था, कभी माफ नहीं कर पाएंगे
मालेगांव धमाके मामले में आरोपी प्रज्ञा सिंह ठाकुर द्वारा अपने बयान पर माफी मांगे जाने के बाद भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा था कि वह गोडसे को सच्चा देशभक्त कहने के लिए उन्हें कभी माफ नहीं कर पाएंगे।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप