रांची, राज्य ब्यूरो। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एल खियांग्ते तथा आइजी अभियान आशीष बत्रा ने कहा है कि निर्वाचन आयोग और पुलिस प्रशासन झारखंड में लोकसभा चुनाव पूरी तरह सुरक्षित व शांतिपूर्ण संपन्न कराने में सफल रहा। कहीं भी कोई बड़ी घटना नहीं हुई। नक्सलियों की भी एक भी नहीं चली। दोनों पदाधिकारी रविवार को अंतिम चरण की तीन सीटों पर शांतिपूर्ण मतदान संपन्न होने के बाद मीडिया से रूबरू हो रहे थे।

पदाधिकारियों ने कहा कि झारखंड में चार चरणों में चुनाव संपन्न हुआ। कुल 29464 बूथों में 46.3 फीसद संवेदनशील तथा 25.9 फीसद अति संवेदनशील थे। केवल 27.8 फीसद सामान्य बूथ थे। इसके बावजूद सभी सीटों पर मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण संपन्न हुआ। कहीं ऐसी कोई घटना नहीं हुई, जिससे मतदान बाधित हुआ हो। कोल्हान में छिटपुट घटनाओं को छोड़कर कहीं भी कोई छोटी-बड़ी घटना नहीं हुई।

आशीष बत्रा के अनुसार, मतदान संपन्न कराने के लिए भारत निर्वाचन आयोग से अर्धसैनिक बल की 219 कंपनियां मिली थीं। वहीं, छत्तीसगढ़ व ओडिशा पुलिस की क्रमश: दस व छह कंपनियां मिली थीं। राज्य के जैप, झारखंड जगुआर, होमगार्ड तथा जिला पुलिस मिलाकर कुल 65,000 पुलिस कर्मी चुनाव में लगाए गए। इस मौके पर अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे, अमिताभ कौशल भी उपस्थित थे।

फैक्ट फाइल

  • 450 महिला बूथों पर 3000 महिला पुलिस कर्मी तैनात की गईं।
  • पहले चरण में 132, दूसरे चरण में 31, तीसरे चरण में 97 तथा अंतिम चरण में आठ बूथ बदले गए।
  • चुनाव के दौरान 28,154 लोगों पर 107 धारा के तहत कार्रवाई हुई।
  • 222 हथियार, 1700 गोलियां, 1446 जिलेटिन, 618 डेटोनेटर, 25000 विस्फोटक पदार्थ पकड़े गए।
  • 1.2 करोड़ रुपये की 27,854 लीटर शराब जब्त की गई।
  • 2.51 करोड़ के अन्य मादक पदार्थ जब्त किए गए।

चुनाव में लगे पदाधिकारी व अन्य कर्मी

  • सामान्य पर्यवेक्षक : 14
  • कुल व्यय पर्यवेक्षक : 29
  • कुल पुलिस पर्यवेक्षक : 12
  • कुल माइक्रो प्रेक्षक : 2,207
  • हेलीकॉप्टर लगाए गए : 05

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप