जागरण संवाददाता, नोएडा। पुलिस ने दो कैश वैन से एक करोड़ 68 लाख रुपये सीज किए हैं। आचार संहिता की वजह से चुनाव आयोग के निर्देशानुसार आयकर विभाग को सूचना दी गई। आयकर टीम कैश के स्त्रोत सहित अन्य बिंदुओं की जांच कर रही है।

जानकारी के अनुसार कोतवाली फेज तीन पुलिस को बृहस्पतिवार दोपहर करीब एक बजे बहलोलपुर गोल चक्कर के पास संदिग्ध हालत में सीएमएस कंपनी की कैश वैन खड़ी दिखी। इस कैश वैन में न हूटर लगा था नहीं सीसीटीवी कैमरा। इसके अलावा कैश वैन में कोई सुरक्षा गार्ड नहीं था। कैश वैन में दो युवक मौजूद थे।

कैश वैन में आरबीआइ के निर्देशों का उल्लंघन किया किया जा रहा था और साथ ही वैन में मौजूद कर्मचारी उस कैश से संबंधित दस्तावेज भी नहीं दिखा सके। इसके बाद उन्हें मौके से हिरासत में लिया गया। पकड़े गए दोनो युवकों के नाम विजय कुमार निवासी अब्दुल हमीद कालोनी गाजियाबाद व राहुल निवासी गोखाना मोड सिहानी गेट गाजियाबाद के रूप में हुई।

कैश वैन से कुल 1 करोड़ 37 लाख 86 हजार रुपये सीज किए गए हैं। क्षेत्राधिकारी द्वितीय पीयूष कुमार सिंह ने बताया कि आयकर विभाग की टीम उस कैश के संबंध में जांच कर रही है। कोतवाली फेज तीन प्रभारी इंस्पेक्टर अखिलेश त्रिपाठी ने बताया कि इस मामले में एफआइआर दर्ज कर ली गई है।

उधर, कोतवाली सेक्टर 24 पुलिस ने एक अन्य कैश वैन से 31 लाख रुपये सीज किए गए हैं। इस वैन में चालक के अलावा दो कर्मचारी व दो सुरक्षा गार्ड मौजूद थे। पूछताछ में पकड़े गए व्यक्तियों ने बताया कि सीएमएस कंपनी की वैन है और बिशनुपरा से निठारी स्थित एटीएम में पैसा डालने जा रहे थे। पुलिस के अनुसार कैश वैन में आरबीआइ द्वारा निर्गत गाइड लाइन के अनुसार इस कैशवैन मे काफी खामियां उजागर हुर्इं।

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप