जागरण संवाददाता, नाहन। पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने बुधवार को पांवटा साहिब में जनसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। सिद्धू ने कहा कि राम-राम की लूट है तीन मोदी फरार-चौथा रहा लूट। सिद्धू ने कहा कि मोदी ने 342 संकल्प लिए थे। जिसमें गंगा को साफ कर दूंगा, बरेली का विकास कर दूंगा, दो करोड़ नौकरियां दूंगा, 15 लाख रुपये लोगों के खाते में आएंगे, काला धन वापस लाऊगा, इसमें से कोई भी वादा मोदी ने पूरा नहीं किया।

सिद्धू ने कहा कि आज वह इसलिए गुरु की नगरी आया है, ताकि आने वाली पीढ़ियों को बता सके कि जब भाजपा के हाथों देश बर्बाद हो रहा था। तो सिद्धू और कांग्रेस तमाशा नहीं देख रहे थे। सिद्धू ने कहा कि आप लोगों ने हीरो नंबर वन, बीवी नंबर वन व कुली नंबर वन फिल्म देखी होंगी। मगर अब आप देश में फेकू नंबर वन फिल्म देख रहे हैं। नरेंद्र मोदी बात तो करोड़ों की करते हैं, दुकान पकड़ों की और संगत भगोड़ों की करते हैं। सिद्धू ने कहा कि अडानी और अंबानी ने देश के 42 हजार करोड़ नहीं दिए। ऊपर से देश के 24 हाजर करोड़ लेकर माल्या व नीरव मोदी लेकर फरार हो गए। उन्हें देश के चौकीदार ने क्यों नहीं रोका। देश का चौकीदार क्या कर रहा था।

मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि 64 साल में भारत सरकार पर विश्व बैंक का 50 लाख करोड़ कर्जा था, जबकि पिछले पांच साल में मोदी ने 32 लाख करोड़ का कर्ज लिया है। सरकार पर इतना कर्जा किस लिए हुआ। सिद्धू ने कहा कि मोदी जब प्रधानमंत्री नहीं बने थे, तब वह कहते थे ना खाने दूंगा ना खाऊंगा। मोदी ने पीएम बनते ही राफेल डील में 35 हजार करोड़ खा लिए। मोदी अंबानी और अडानी के हाथों की कठपुतली बने हुए हैं। यही अगर देश का एक किसान दो लाख कर्ज लेता है और उसमें से दो हजार वापस नहीं करता, तो उसे जेल में डाल दिया जाता है। मगर करोड़ों लूट कर विदेशों में जा बैठे मोदी के दोस्तों को क्यों नहीं पकड़ा जा रहा। सिद्धू ने कहा कि कांग्रेस देश को आजादी दिलाने वाली पार्टी है।

मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि छह प्रेस कॉन्फ्रेंस की और मोदी से 17 सवालों के जवाब मांगे। मोदी ने एक बार भी जवाब नहीं दिया। मोदी को ललकारते हुए कहा कि सुन ले मोदी, जब तू अपनी मां की गोद में लोरी सुन रहा था, तो चाचा नेहरू ने अंतरिक्ष में यान भेज दिया। इसरो बन गया था, मोदी ने जब चलना सीखा, तो भाखड़ा डैम बन गया था। मोदी जब आरएसएस में डंडा चलाना सीख रहे थे, तो भारत तीन लड़ाइयां जीत चुका था। सिद्धू ने कहा कि जब गुजरात में गोधरा के दंगे हो रहे थे। तब दिल्ली में शीला दीक्षित ने मेट्रो ट्रेन चला दी थी। सिद्धू ने कहा कि चुनाव से पहले देश को बुलेट ट्रेन और मेक इन इंडिया और जिला सिरमौर को समुदाय को जनजातीय क्षेत्र का दर्जा कहां पर है। सिद्धू ने पूछा कि अनुराग ठाकुर ने जो पांवटा सािहब के लिए रेल की घोषणा की थी, वह कहां पर है।

स्मृति ईरानी पर निशाना साधते हुए कहा कि स्मृति ईरानी जब राहुल गांधी से पहली बार चुनाव लड़ने आई थी, तो वह बीए पास थी। अब दूसरी बार जब चुनाव लड़ने आई हैं, तो वह 12वीं पास हो गईं और जब तीसरी बार आएगी, तो उसकी पढ़ाई केजी क्लास हो जाएगी। मोदी सरकार ने देश का 278 टन सोना विदेशों में गिरवी रखा है। फिर भी मोदी देश भक्ति और राष्ट्र भक्ति की बातें करते हैं। उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल पर भारी भरकम टैक्स लगाया है। पेट्रोल की कीमत 37 है, जबकि उस पर टैक्स 47 रुपये है।

मोदी को ललकारते हुए सिद्धू ने कहा कि वह मोदी की गीदड़ भभकी से नहीं डरता है। साथ ही तंज कसते हुए कहा कि जिस पेड़ पर फल लगते हैं, पत्थर उसे ही लोग मारते हैं। सिद्धू ने कहा कि मोदी आज फौज के नाम पर वोट मांगते है। कहते हैं कि सरहदों में तनाव है, पता तो करो कहीं चुनाव तो नहीं है। आज देश की संवैधानिक संस्थाएं अपना वजूद तलाश रही हैं। न्यायपालिका के न्यायाधीश चौराहे पर कहते हैं कि हम पर सरकार का दबाव है। पेट खाली है, योग करवाया जा रहा है, अमीर बैंक लूट रहे है खाता खुलवाया जा रहा है। खाने को रोटी नहीं, शौचालय बनवाया जा रहा है। मोदी पर तंज कसते हुए सिद्धू ने कहा कि पिछले 5 सालों ने मोदी ने भाइयों और बहनों, भाइयों और बहनों ही कहा है। वाराणसी में एक फौजी से मोदी ईतना डर गया कि उसके दस्तावेज ही रद्द करवा दिए। लेकिन में यहां पर शिमला संसदीय क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी धनीराम शांडिल के पक्ष में वोट वोट अपील करने आया हूं। जो कि मोदी के खिलाफ लड़ेगा भी और जीतेगा भी। सिद्धू ने कहा कि मोदी ने अपने राजनीतिक गुरु आडवाणी को दूध से मक्खी की तरह निकाल कर फेंक दिया। आज वह जनता की अदालत में इंसाफ मांगने आए हैं, अगर जुलम करना पाप है, तो जुल्म सहना भी पाप है।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप