श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। दक्षिण कश्मीर के त्राल में मंगलवार को नेशनल कांफ्रेंस के वरिष्ठ नेता और अनंतनाग-पुलवामा संसदीय क्षेत्र के उम्मीदवार हसनैन मसूदी व अन्य नेता एक आतंकी हमले में बाल बाल बच गए। आतंकियों ने उन्हें निशाना बनाने के लिए यूबीजीएल ग्रेेनेड दागा था,लेकिन वह सभास्थल के बाहरी दीवार के साथ टकराते हुए फटा। फिलहाल, पुलिस ने पूरे इलाके को घेरते हुए हमलावार आतंकियों को पकड़ने के लिए सघन तलाशी अभियान चलाया है।

राज्य में मौजूदा संसदीय चुनावों के दौरान मुख्यधारा के किसी वरिष्ठ नेता या उम्मीदवार पर आतंकियों का यह पहला बड़ा हमला है, जो नाकाम रहा है। गौरतलब है कि आतंकी व अलगाववादी संगठनों ने लोगों को चुनाव बहिष्कार करते हुए ,मतदान प्रक्रिया से पूरी तरह दूर रहने का फरमान सुनाया है। त्राल से मिली जानकारी के अनुसार, अनंतनाग-पुलवामा संसदीय क्षेत्र से नैकां के टिकट पर चुनाव लड़ रहे राज्य उच्च न्यायालय के पूर्व जस्टिस हसनैन मसूदी आज यहां एक चुनावी सभा के लिए आए थे। उन्होंने अस्पताल मार्ग पर स्थित नैकां नेता मोहम्मद अशरफ बट के मकान पर एक चुनावी सभा बुलाई थी।

बैठक के संपन्न होने के बाद जब नैकां नेता और कार्यकर्त्ता वहां से निकलने लगे तो वहीं कहीं आस-पास छिपे आतंकियों ने यूबीजीएल ग्रेनेड से हमला किया। लेकिन यूबीजीएल का निशाना चूक गया और मोहम्मद अशरफ बट के मकान की बाहरी दीवार से टकराते हुए फट गया। इससे दीवार क्षतिग्रस्त हो गई। लेकिन किसी प्रकार का जानी नुक्सान नहीं हुआ। विस्फोट से वहां अफरा-तफरी फैल गई। लोग अपनी जान बचाने के लिए सुरक्षित स्थानों पर भागे। नैकां नेता हसनैन मसूदी को उनके अंगरक्षकों ने तुरंत अपने घेरे में लेते हुए सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया।

इस बीच, पुलिस व सीआरपीएफ के जवान भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने उसी समय पूरे इलाके को घेरते हुए हमलावर आतंकियों को पकड़ने के लिए एक तलाशी अभियान चलाया। नैकां उम्मीदवार हसनैन मसूदी ने इस हमले की पुष्टि करते हुए बताया कि बैठक समाप्त होने के बाद जब हम लोग वहां से निकलने लगे तो अचानक वहां यूबीजीएल ग्रेनेड से हमला हुआ। लेकिन इसमें किसी प्रकार का नुक्सान नहीं हुआ है। अनंतनाग सीट पर चुनाव प्रचार का आज अंतिम दीन है। यहां मतदान 18 अप्रैल को होने हैं।

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप