लखनऊ, जेएनएन। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आवारा पशुओं से लोगों के घायल होने का हवाला देते हुए भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि एम्स की जमीन हमने दी, लेकिन भाजपा सरकार में आवारा पशु लोगों को अस्पताल पहुंचा रहे हैैं। दूसरी तरफ चुनाव के अंतिम चरण में सपा ने बची हुई वीआइपी सीटों पर फोकस बढ़ा दिया है।

शहरों से लेकर खेतों तक आवारा पशुओं की समस्या उठाते रहे अखिलेश ने सोमवार को फिर इसी मुद्दे पर भाजपा को घेरा। उन्होंने ट्वीट किया- चिड़ियाघर खोलने से क्या लाभ जब पशु आवारा घूम रहे हैं। खाद कारखाना दोबारा खोलने से क्या लाभ जब बोरी से पांच किलो यूरिया चुरा ली। सांड़ों की लड़ाई का फोटो पोस्ट करते हुए अखिलेश ने कहा कि लखनऊ में कई सांड़ पकड़े गए हैैं लेकिन, उससे ज्यादा खुले घूम रहे हैैं। अखिलेश ने भाजपा पर हमले तेज करने के साथ ही आखिरी चरण की वीआइपी सीटों पर भी अपने प्रयास केंद्रित कर दिए हैैं।

सोमवार को वह सपा के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न बने गोरखपुर में थे तो मंगलवार को वह बसपा प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा के लिए सलेमपुर लोकसभा क्षेत्र में बसपा अध्यक्ष मायावती और रालोद अध्यक्ष अजीत सिंह के साथ होंगे। गठबंधन की नजर वाराणसी के चुनाव पर भी है। यहां 16 मई को संयुक्त रैली आयोजित की गई है। वाराणसी में सपा ने बीएसएफ के बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव का नामांकन निरस्त होने को पहले ही मुद्दा बना रखा है।

गठबंधन की बलिया में संयुक्त रैली

सपा-बसपा व रालोद गठबंधन की संयुक्त रैली मंगलवार को सलेमपुर लोकसभा क्षेत्र के लिए बलिया में दोपहर साढ़े बारह बजे होगी। इस रैली में बसपा अध्यक्ष मायावती, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और रालोद अध्यक्ष अजीत सिंह शामिल होंगे। बलिया लोकसभा क्षेत्र के लिए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की सभा दोपहर सवा दो बजे बलिया सदर में होगी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस