लखनऊ, जेएनएन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुकाबले सपा ने कांग्रेस के पूर्व सांसद व राज्यसभा के पूर्व उप सभापति श्यामलाल यादव की पुत्रवधू शालिनी यादव को मैदान में उतारा है। वाराणसी से मेयर का चुनाव लड़ चुकीं शालिनी सोमवार शाम सपा में शामिल होने के कुछ ही देर बाद गठबंधन की प्रत्याशी घोषित हो गईं। 

सोमवार को प्रेस वार्ता में अखिलेश अपने साथ शालिनी यादव को लेकर आए। यहीं पर लोकदल के प्रदेश अध्यक्ष व आजमगढ़ से अखिलेश के खिलाफ चुनाव लड़ रहे डॉ.एसपी सिंह कुशवाहा ने भी अपनी प्रत्याशिता से संबंधित कागजात सौंपते हुए बताया कि वह अखिलेश के खिलाफ चुनाव नहीं लड़ना चाहते थे और अब चुनाव लडऩे की बजाय केवल अखिलेश का समर्थन करेंगे। इसके अलावा कई अन्य लोग भी सपा मुख्यालय में पार्टी में शामिल हुए। 

पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयान पर तीखा पलटवार करते हुए अखिलेश ने कहा कि भाजपा के लोग संतुलन खोते जा रहे हैैं। भैैंस चराने वाले बयान पर भगवान कृष्ण को भी सभा में ग्वाला कहे जाने का उदाहरण देते हुए अखिलेश ने कहा कि जब दुर्योधन का अहंकार नहीं बचा तो उनका भी नहीं बचेगा। उन्हें जनता वापस मठ में पहुंचा देगी। कांग्रेस के प्रति नरम रुख को गलत ठहराते हुए अखिलेश ने कहाकि कांग्रेस के नामांकन में वे लोग मौजूद थे, जिन्होंने नेताजी पर पीआइएल कराई थी। सपा अध्यक्ष ने कहा कि किसानों को फसल का सही मूल्य नहीं मिल रहा, जबकि विदेशों से खाद्य तेल मंगाया जा रहा है। भोपाल में साध्वी प्रज्ञा के बयानों को उन्होंने असली ध्यान बांटने की कोशिश बताया।

केंद्र सरकार पर अन्य दलों के मुख्यमंत्रियों के लिए कठिनाई खड़ी किए जाने का आरोप लगाते हुए अखिलेश ने कहा कि इस बार क्षेत्रीय दल ही देश को नया प्रधानमंत्री देंगी। अखिलेश ने एक्सप्रेस वे से एक करोड़ रुपये से ज्यादा टोल टैक्स आने के बावजूद सुरक्षा व्यवस्था न होने पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि सपा ने न्यूजीलैैंड से हाइवे पुलिसिंग के लिए लोग बुलाए थे लेकिन भाजपा सरकार ने कोई इंतजाम नहीं किया। अखिलेश ने प्रदेश में एक भी यादव डीएम-एसएसपी न होने पर भी सवाल उठाया। अखिलेश ने कहा कि प्रधानमंत्री कन्नौज आ रहे हैैं तो वह झोला भी लेते आएं, जिससे उन्होंने कन्नौज में काम कराए हों।

चंदौली में जनवादी पार्टी के प्रमुख संजय चौहान को थमाई साइकिल

वाराणसी से प्रत्याशी उतारने के साथ ही सपा ने चंदौली से जनवादी पार्टी के प्रमुख संजय चौहान को टिकट दिया है, वहीं पिछले दिनों सपा में शामिल हुए मछलीशहर के भाजपा सांसद रामचरित्र निषाद को सपा ने मीरजापुर से प्रत्याशी घोषित कर दिया। इस सीट से सपा ने पहले राजेंद्र एस बिंद का नाम तय किया था।

Posted By: Umesh Tiwari