मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लखनऊ, जेएनएन। लोकसभा चुनाव 2019 में प्रचार के दौरान संप्रदाय विशेष को मतदान के लिए प्रेरित करने के मामले में चुनाव आयोग से 72 घंटा का प्रतिबंध झेलने वाली बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायवती चुनाव आयोग के खिलाफ बेहद मुखर हैं। मायावती ने आरोप लगाया कि पीएम नरेंद्र मोदी चुनाव आचार संहिता का खुलेआम उल्लंघन कर रहे हैं, लेकिन लगता है उनको पूरी छूट है।

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया ने पीएम मोदी पर महिला सम्मान और मर्यादाओं के उल्लंघन का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी चुनाव आचार संहिता का लगातार गंभीर उल्लंघन कर रहे हैं। इसके बाद भी चुनाव आयोग प्रधानमंत्री पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। मायावती ने आज एक बार फिर ट्वीट किया है। मायावती ने ट्वीट कर कहा कि पीएम मोदी चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के अनेकों गंभीर आरोपों के बावजूद थैंक्स टू चुनाव आयोग अब तक पूरी तरह से आजाद और बेपरवाह घूम रहे हैं। इसी कारण अब इन्होंने महिला सम्मान और मर्यादाओं की सीमा भी लांघनी शुरू कर दी है। उन्होंने कहा कि वाकई में बीजेपी/आरएसएस ने लाजवाब नेता पांच वर्ष तक देश पर थोपा।

मायावती ने कहा कि बीजेपी ऐंड कंपनी के लोग यह कहकर कि मोदी के मुकाबले विपक्ष का पीएम पद का उम्मीदवार कौन है, देश की 130 करोड़ जनता का बार-बार अपमान क्यों करते रहते हैं। ऐसा ही अहंकारी सवाल पहले उठाया गया था कि नेहरू के बाद कौन, लेकिन देश ने इसका तगड़ा और माकूल जवाब तब भी दिया था और आगे भी जरूर देगा।

लोकसभा चुनाव के शंखनाद के बाद से ही मायावती भाजपा पर हमलावर हैं। इससे पहले मायावती ने ट्वीट करके आरक्षण मुद्दे पर केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरा था। मायावती ने कहा कि आरक्षण मामले में पीएम नरेंद्र मोदी देश को गुमराह कर रहे हैं।  

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप