कन्नौज, जेएनएन। लोकसभा चुनाव 2019 में उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ एकजुट समाजवादी पाटी, बहुजन समाज पार्टी व राष्ट्रीय लोकदल का सियासी गठबंधन रिश्तों को भी मजबूत करता हुआ नजर आ रहा है। इत्रनगरी कन्नौज से गठबंधन की प्रत्याशी समाजवादी पार्टी की सांसद डिंपल यादव ने कल अपनी सादगी से लोगों का दिल जीत लिया।

सांसद डिंपल यादव के पक्ष में कल कन्नौज में गठबंधन की चुनावी जनसभा थी। इसमें डिंपल यादव ने मंच पर बसपा मुखिया मायावती का पैर छूकर आशीर्वाद लिया। डिंपल यादव कल ही वैसी ही थीं, जिसके लिए वह विख्यात हैं। जिस सादगी, शालीनता और आदर्श बहू के रूप में जानीं जाती हैं, डिंपल ने उन्हीं संस्कारों का परिचय मंच पर भी दिया।

कन्नौज में मंच पर सबसे पहले मायावती, उनके पीछे अखिलेश-डिंपल और चौधरी अजित सिंह थे। कुर्सी पर स्थान ग्रहण करने से पहले डिंपल ने हाथ जोड़कर सभी का अभिवादन किया। इसके बाद मायावती को चांदी का हाथी देकर सम्मानित किया। जब मायावती भाषण देने को उठीं तब डिंपल  भी हाथ जोड़कर खड़ी हो गईं। माइक संभालने के बाद मायावती ने सबसे पहले डिंपल यादव को बेहद सुलझा और परिपक्व बताया।

मायावती ने कहा कि अखिलेश यादव की पत्नी हैं तो यहां की बहू भी हैं। अखिलेश मुझे बड़ा मानते हैं। इस लिहाज से डिंपल से हमारा रिश्ता और भी खास है। मायावती भाषण खत्म करके आईं तो डिंपल यादव ने उनके पैर छुए। माया ने भी उनके सिर पर हाथ रखा। वहां पर यह दृश्य देखते ही जनसभा में माया-डिंपल के नारे गूंज उठे। पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव कन्नौज से सांसद हैं और एक बार फिर यहां से चुनावी समर में हैं। यह पहला मौका नहीं था।

इससे पहले भी 19 अप्रैल को मैनपुरी में आयोजित रैली में भी दोनों दलों के नेताओं के बीच गर्मजोशी देखने को मिली थी. वह ऐसा मौका था, जब मायावती और एसपी नेता मुलायम सिंह यादव 24 साल बाद एक साथ दिखे थे। इस दौरान मुलायम सिंह यादव के पौत्र और मैनपुरी से मौजूदा सांसद तेजप्रताप यादव ने भी मायावती के पैर छूकर आशीर्वाद लिया था। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस