भोपाल, राज्‍य ब्‍यूरोलोकसभा चुनाव में प्रत्याशी चयन के लिए कांग्रेस अध्यक्ष ने स्क्रीनिंग कमेटी का ढांचा बदल दिया है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ नेता मधुसूदन मिस्‍त्री को इससे अलग करते हुए एआईसीसी के संगठन प्रभारी महासचिव केसी वेणुगोपाल की अध्यक्षता में स्क्रीनिंग कमेटी बनाकर लोकसभा चुनाव के प्रत्याशियों की चयन प्रक्रिया को अंजाम दिया जा रहा है।

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 हो या इसके पहले के लोकसभा चुनाव, तब अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ नेता मधुसूदन मिस्‍त्री की अध्यक्षता में स्क्रीनिंग कमेटी बनाई जाती रही थी। हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में भी मिस्त्री की अध्यक्षता वाली कमेटी ने भोपाल और दिल्ली में कई दौर की बैठक के बाद प्रत्याशी चयन हुआ था। उनके साथ अजय कुमार लल्लू और नेटा डिसूजा भी थीं।

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए मिाी की अध्यक्षता वाली स्क्रीनिंग कमेटी की व्यवस्था को बदलकर संगठन प्रभारी महासचिव और सांसद केसी वेणुगोपाल को जिम्मेदारी दी है। वेणुगोपाल के अलावा प्रदेश प्रभारी महासचिव दीपक बाबरिया और प्रदेश प्रभारी सचिव संजय कपूर, सुधांशु त्रिपाठी, हर्षवर्धन सपकाल व वर्षा गायकवाड़ की भूमिका अहम बना दी गई है। स्क्रीनिंग कमेटी में पीसीसी के अध्यक्ष और मुख्यमंत्री की दोहरी भूमिका में कमलनाथ प्रदेश का प्रतिनिधित्व करेंगे।

सात को फिर स्क्रीनिंग कमेटी
स्क्रीनिंग कमेटी की दूसरी बैठक सात मार्च को दिल्ली में आयोजित की गई है। पहली बैठक प्रदेश प्रभारी महासचिव बाबरिया की अस्वस्थता के कारण अस्पताल में हुई थी और वहां अधिकांश सीटों पर चर्चा हो गई थी। सूत्र बताते हैं कि दूसरी बैठक में कई सीटों पर प्रत्याशी चयन को अंतिम रूप दे दिया जाएगा लेकिन इसका ऐलान चुनाव की आचार संहिता लागू होने के बाद कभी भी जारी किया जा सकता है।

एआईसीसी महासचिव अध्यक्ष होंगे
लोकसभा चुनाव के लिए एआईसीसी ने स्क्रीनिंग कमेटी का प्रमुख संगठन प्रभारी महासचिव वेणुगोपाल को बनाया गया है। इसकी पहली बैठक प्रदेश प्रभारी महासचिव बाबरिया के अस्पताल में भर्ती होने से वहां और अगली बैठक बुधवार को होने की संभावना है।
- राजीव सिंह, प्रशासन प्रभारी महामंत्री, पीसीसी

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस