नई दिल्ली, जेएनएन। दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों के साथ हरियाणा की 10 सीटों के लिए भी मंगलवार को अधिसूचना जारी होते ही नामांकन प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी। इसके लिए मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय ने सभी लोकसभा क्षेत्रों में एक-एक नामांकन केंद्र बनाया है। प्रत्याशी 11 से अपराहन 3 बजे तक नामांकन कर सकेंगे। दिल्ली के साथ ही मंगलवार को पड़ोसी राज्य हरियाणा में भी नामांकन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. रणबीर सिंह ने बताया कि उम्मीदवार अपना नामांकन 23 अप्रैल तक कर दाखिल कर सकेंगे। 24 अप्रैल को फार्मों की जांच की जाएगी। वहीं 25 और 26 अप्रैल तक उम्मीदवार अपना नाम वापस ले सकेंगे। उन्होंने बताया कि हर एक उम्मीदवार को फार्म 26 में अपना शपथपत्र जमा करना होगा।

पूर्वी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र के रिटर्निंग ऑफिसर के महेश ने बताया कि मंगलवार से शुरू हो रहे नामांकन प्रकिया के लिए प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है। नामांकन के दौरान प्रत्याशी समेत पांच लोग ही निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय में जा सकेंगे। उनके काफिले में भी तीन से अधिक वाहन नहीं होने चाहिए। के महेश ने बताया कि इस दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। नेताओं को अपन दलबल को निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के 100 मीटर पहले ही रोकना पड़ेगा। इस दौरान अगर वाहनों की संख्या अधिक पाई गई तो इसे आचार संहिता का उल्लंघन माना जाएगा।

यह है चुनाव प्रक्रिया

प्रत्याशियों के नामांकन की प्रक्रिया मंगलवार से शुरू होकर 23 अप्रैल तक चलेगी। नामांकन पत्र के साथ हर प्रत्याशी को 25 हजार रुपये की जमानत राशि जमा करानी होगी। 24 अप्रैल को नामांकन पत्रों की छंटनी होगी, जबकि 26 अप्रैल को नाम वापस लेने की तिथि निर्धारित है। नामांकन वापसी के लिए दोपहर तीन बजे से पूर्व उम्मीदवार या उसके किसी प्रस्तावक या उसके चुनाव एजेंट द्वारा अन्य अधिकारी को दी जा सकती है।

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) डॉ. रणबीर सिंह ने सोमवार को पत्रकार वार्ता में बताया कि मतदाता सूची में नाम जोड़ने की अंतिम तारीख 13 अप्रैल थी। इसके साथ ही दिल्ली में कुल मतदाताओं को संख्या 1 करोड़ 41 लाख 83 हजार 55 हो गई है। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 78 लाख 4 हजार 118, जबकि महिला मतदाताओं की संख्या बढ़कर 73 लाख 78 हजार 238 पहुंच गई है। थर्ड जेंडर मतदाताओं की संख्या 706 जबकि सरकारी सेवारत मतदाताओं की संख्या 10,622 हो गई है।

13,816 मतदान केंद्रों पर तैयारियां पूरी

रणबीर सिंह ने बताया कि करीब 1 करोड़ 41 लाख मतदाताओं के लिए राजधानी दिल्ली में कुल 13 हजार 816 मतदान केंद्र बनाए गए है। सभी मतदान केंद्रों पर पूरे इंतजामात किए गए हैं। हालांकि, इनमें से 41 मतदान केंद्रों पर अभी रैंप नहीं है, जिन्हें जल्द निर्माण कराने के आदेश दिए गए हैं। 14 जगह फर्नीचर नहीं हैं जबकि 4 जगहों पर साइनेज नहीं है। इसके अलावा 4 मतदान केंद्रों पर पेयजल की कमी है जिसे जल्द पूरा कर लिया जाएगा।

सी विजिल एप पर 1263 शिकायतें, 897 पाई गईं सही

डॉ. रणबीर सिंह ने बताया कि सी विजिल एप के अच्छे रिजल्ट मिल रहे हैं। अब तक इस एप पर 1263 शिकायतें मिली हैं। इनमें से 897 यानि 71 फीसद सही पाई गई हैं। इन पर जिला निर्वाचन अधिकारी ने कार्रवाई भी कर दी है।

सातों लोकसभा क्षेत्र के लिए अलग-अलग बनाए गए हैं नामांकन केंद्र

मुख्य निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक दिल्ली के सभी सात लोकसभा क्षेत्रों में अलग-अलग निर्वाचन अधिकारी कार्यालय बनाए गए हैं। चांदनी चौक सीट के लिए अलीपुर के जीटी करनाल रोड स्थित डिस्ट्रिक मजिस्ट्रेट ऑफिस में नामांकन होगा। उत्तर पूर्वी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र के लिए नंद नगरी स्थित के-ब्लॉक वेभर कॉम्पलेक्स डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट ऑफिस, पूर्वी दिल्ली लोस क्षेत्र के लिए गीता कॉलोनी के शास्त्री नगर स्थित एलएम बंध डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट ऑफिस, नई दिल्ली लोस क्षेत्र के लिए शाहजहां रोह स्थित जाम नगर हाउस डिस्ट्रिक मजिस्ट्रेट ऑफिस, उत्तर पश्चिम लोस क्षेत्र के लिए कंझावला स्थित डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट ऑफिस, पश्चिमी दिल्ली लोस क्षेत्र के लिए राजा गार्डन स्थित शिवाजी पैलेस डिस्टिक्ट मजिस्ट्रेट ऑफिस और दक्षिणी दिल्ली लोस क्षेत्र के लिए साकेत के एमबी रोड स्थित डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट ऑफिस में नामांकन किए जाएंगे।

1676 कलस्टर बसों से मतदान के लिए किया जाएगा जागरूक

लोकतंत्र के महापर्व में सभी दिल्ली वालों को जोड़ने के लिए 1676 कलस्टर बसों के माध्यम से भी जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। कलस्टर बस सेवा से प्रतिदिन लाखों यात्री सफर करते हैं।

पिंक लाइन पर मतदाताओं को जागरूक करने को दौड़ेगी मेट्रो

डॉ. रणबीर सिंह ने कहा कि लोगों को चुनाव के प्रति जागरूक करने के लिए पिंक लाइन की छह डिब्बे वाली मेट्रो सज-धज कर तैयार है। जल्द ही लोगों की जागरूकता के लिए रवाना कर भी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली की आधी आबादी मेट्रो पर सफर करती है। चुनाव के प्रति जागरूकता के लिए इससे बढ़िया और कोई साधन नहीं हो सकता।

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप