मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जगदलपुर,जागरण संवादाता। लोकसभा चुनाव के पहले चरण के तहत गुरुवार की सुबह 7 बजे से छत्तीसगढ़ के बस्तर में मतदान शुरू हो गया है। नक्सल हिंसा और भय को मात देते हुए यहां के लोग पूरे उत्साह के साथ लोकतंत्र के इस महापर्व में अपनी भूमिका निभाते नजर आ रहे हैं। ग्रामीण इलाकों से महिला-पुरुष, बुजुर्ग-युवा सभी मतदान के लिए घरों से निकलकर पोलिंग बूथ तक पहुंच रहे हैं। संभाग के सभी जिलों में शांतिपूर्ण मतदान चल रहा है। यहां नक्सलियों ने दहशत फैलाने की भी कोशिश की, लेकिन लोगों का उत्साह कहीं से भी कम होता नजर नहीं आ रहा है। 

नारायणपुर जिले में नक्सलियों ने मतदान शुरू होने से पहले एक पोलिंग बूथ के नजदीक आइइडी ब्लास्ट किया। नक्सलियों ने पोस्टर और बैनर लगाकर मतदान न करने की धमकी भी दी है, लेकिन यहां के लोग लोकतंत्र के प्रति अपनी आस्था और सुरक्षा बलों पर भरोसे के साथ अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए पूरा उत्साह दिखा रहे हैं। दो दिनों पहले दंतेवाड़ा जिले के श्याम गिरी गांव के नजदीक नक्सलियों ने आइईडी ब्लास्ट किया था, जिसमें स्थानीय विधायक भीमा मंडावी की मौत हो गई थी। 

इस घटना में 4 जवान भी शहीद हुए। इसी श्याम गिरी पोलिंग बूथ में आज मतदान के लिए ग्रामीणों का अनोखा उत्साह दिख रहा है। यहां ग्रामीणों ने नक्सलियों की धमकी और हिंसा की परवाह किए बिना मतदान के लिए अपनी प्रतिबद्धता को दिखाया है। बस्तर के लोग लोकतंत्र के प्रति किस कदर आस्था रखते हैं यह बात वोटिंग के शुरूआती आंकड़ों से ही स्पष्ट हो रही है।

यहां शुरूआती चार घंटों में ही करीब 26 फीसद मतदान हो चुका है। पूरे बस्तर में बड़ी संख्या में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा बल के जवान तैनात हैं और ग्रामीणों को पूरी तरह सुरक्षित माहौल में मतदान कराया जा रहा है। दोपहर तक वोटिंग के आंकड़े और भी तेजी के साथ बढ़ेंगे। कई अत्यधिक संवेदनशील मतदान केंद्रों में दोपहर तीन बजे तक ही मतदान होंगे। 

Posted By: Atyagi.jimmc

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप