कोच्चि, पीटीआइ। केरल में कांग्रेस को लगातार दूसरे दिन शुक्रवार को भी झटका लगा। सोनिया गांधी के करीबी रहे पार्टी प्रवक्ता टॉम वडक्कन के गुरुवार को भाजपा में चले जाने के अगले ही दिन तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस सांसद शशि थरूर के मौसी-मौसा भी यहां भाजपा में शामिल हो गए। शशि थरूर की मौसी शोभना शशि कुमार, उनके पति शशि कुमार और 13 अन्य लोगों का प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पीएस श्रीधरन पिल्लई ने पार्टी में स्वागत किया। इस मौके पर थरूर के मौसी-मौसा ने कहा कि वे काफी दिनों से भाजपा की विचारधारा का अनुसरण कर रहे थे।

सोभना शशिकुमार और उनके पति शशिकुमार ने कहा कि वे लंबे समय से भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा का से प्रेरित थे और पालन भी कर रहे थे। इसलिए भाजपा में शामिल होकर काम करने में उन्‍हें बेहद खुशी होगी।

इससे पहले केरल में कांग्रेस को तब बड़ा झटका लगा, जब गुरुवार को वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता रहे टॉम वडक्कन भाजपा में शामिल हो गए। वडक्‍कन ने भाजपा में शामिल होने के बाद बताया कि जिस तरह से कांग्रेस ने एयर स्ट्राइक के बाद सवाल खड़े किए, उससे वह काफी दुखी हैं। यही कारण है कि वह अब कांग्रेस को छोड़ भाजपा में शामिल हुए।

गौरतलब है कि केरल में लोकसभा की 20 सीट हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा यहां से एक भी सीट नहीं जीत पाई थी। यहां पर 2014 में यूपीए को 12 सीटें मिली थी, यूपीए को मिला वोट प्रतिशत 38 था। लेफ्ट गठबंधन को 8 सीटें मिली थी, लेफ्ट को मिलने वाला वोट प्रतिशत 30 था। भाजपा को हालांकि, सीटें नहीं मिली, लेकिन उसे 10 प्रतिशत वोट जरूर मिला था। इस बार भाजपा केरल में अपने प्रदर्शन को सुधारना चाहती है।

 

Posted By: Tilak Raj