लखनऊ, जेएनएन। यूपी में कई क्षेत्रों में जातीय व साम्प्रदायिक समीकरणों की चुनौतियों के बीच पुलिस सकुशल मतदान कराने के बाद अब मतगणना की तैयारी में जुट गई है। जिन सीटों पर प्रत्याशियों के बीच कांटे की टक्कर का आकलन है, वहां पुलिस भी अतिरिक्त सतर्कता बरतने की रणनीति पर काम कर रही है। मतगणना में संवेदनशील क्षेत्रों में 100 कंपनी अतिरिक्त पीएसी की तैनाती भी की जायेगी।

पुलिस ने इस बार सात चरणों में मतदान से पूर्व संवेदनशील मतदान केंद्रों के चिह्नांकन में काफी पसीना बहाया। सूबे में चरणवार ऐसे मतदान केंद्रों व क्षेत्रों को चिह्नित किया गया। पुलिस ने प्रदेश में 16577 संवेदनशीन मतदान केंद्र सूचीबद्ध किये थे, जहां सुरक्षा के अतिरिक्त बंदोबस्त किये गए। इसके साथ ही अपराधियों व संदिग्ध व्यक्तियों को पाबंद करने की प्रकिया भी लगातार चली। वरिष्ठ अधिकारियों की मानीटरिंग में अपराधियों को हिदायत पत्र भेजने से लेकर दबंग छवि के लोगों की निगरानी की रणनीति भी काम आई।

आइजी कानून-व्यवस्था प्रवीण कुमार त्रिपाठी का कहना है कि चुनाव के दौरान पहली बार वीडियो ट्रैकिंग टीम के प्रभावी प्रयोग किया गया, जिसके अच्छे परिणाम मिले। जिन क्षेत्रों में कार्यकर्ताओं के बीच टकराव की आशंका थी, वहां इसका प्रयोग अधिक किया गया। दबंग छवि के कई लोगों पर भी पुलिस ने कड़ी नजर रखी। पुलिस ने खासकर सोशल मीडिया सेल के जरिये गड़बड़ी करने वालों पर कड़ी नजर रखी।

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक संदेश वायरल करने व माहौल बिगाडऩे के मामलों में पुलिस ने खुद आगे बढ़कर रिपोर्ट दर्ज कराकर कार्रवाई की। करीब 72 मुकदमे दर्ज कराये गये। ऐसे मामलों में पुलिस की त्वरित कार्रवाई से सोशल मीडिया के जरिये गड़बड़ी करने वालों पर अंकुश लगाने में पुलिस को कामयाबी मिली। हर चरण में करीब ढ़ाई लाख पुलिसकर्मी मुस्तैद रहे। 2014 के लोकसभा चुनाव में प्रदेश में छुटपुट 24 घटनाएं हुई थीं, जबकि इस बार चुनाव में आठ छुटपुट घटनाएं हुईं। इन घटनाओं पर पुलिस ने वक्त रहते कार्रवाई कर स्थिति को संभालने में भी कामयाबी हासिल की।

आइजी ने बताया कि मतगणना में 100 कंपनी अर्द्धसैनिक बल व 200 कंपनी पीएसी के साथ पुलिसकर्मी मुस्तैद रहेंगे। मतगणना के बाद किसी को भी जुलूस निकालने की अनुमति नहीं होगी। जुलूस निकालने वालों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिये गए हैं। ताकि कहीं माहौल न बिगड़ सके।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप