नई दिल्ली, प्रेट्र। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जाति को लेकर विपक्षी दलों के प्रहार का केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने करारा जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने कभी भी जाति की राजनीति नहीं की है और वह राष्ट्रवाद से प्रेरित हैं।

रविवार को ट्विटर पर कांग्रेस नेता चिदंबरम और राजद नेता तेजस्वी यादव को दो टूक जवाब देते हुए अरुण जेटली ने कहा कि प्रधानमंत्री की जाति आखिर कैसे प्रासंगिक हो गई? वह राष्ट्रवाद से प्रेरित हैं। उन्होंने कभी भी जाति पर आधारित राजनीति नहीं की है। उन्होंने केवल विकास की राजनीति की है।

इस वाकयुद्ध पर विराम लगाने की कोशिश में जेटली ने कहा कि जाति के नाम पर गरीबों को धोखा देने वालों को सफलता नहीं मिलेगी। जातिवादी राजनीति के नाम पर विपक्षी नेताओं ने केवल संपत्ति का अंबार खड़ा किया है। जब बसपा और राजद के प्रथम परिवार की संपत्ति की बात आती है तो प्रधानमंत्री की संपत्ति उसका 0.01 फीसद भी नहीं है।

कांग्रेस नेता पी.चिदंबरम और राजद नेता तेजस्वी यादव के ट्वीट का करारा जवाब देते हुए जेटली ने कहा कि मोदी अति पिछड़ी जाति से आते हैं। लेकिन उन्होंने इसे कभी भुनाने की कोशिश नहीं की है।

मोदी ने 2014 में ही खुद को ओबीसी बताया था : चिदंबरम
इससे पहले, रविवार को ही कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम ने कई ट्वीट करके कहा कि प्रधानमंत्री जनता को बेवकूफ समझते हैं जिसका स्मृतिलोप हो गया हो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जाति और उनके चायवाला होने पर कांग्रेस नेता ने कहा कि मोदी वह पहले व्यक्ति हैं जिन्होंने 2014 के चुनाव में सबसे पहले कहा था कि वह ओबीसी हैं। अब वह कहते हैं कि उनकी कोई जाति नहीं है। अब वह यह भी कहते हैं कि उन्होंने अपने चायवाला होने की बात कभी जाहिर नहीं की।

मोदी कागजों पर ही अति पिछड़े : तेजस्वी
मोदी के विगत शनिवार को कन्नौज की रैली में खुद को अति पिछड़ा बताने के बाद राजद नेता और लालू के बेटे तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया, 'मैंने विगत 20 अप्रैल (2019) को कहा था कि फर्जी ओबीसी नरेंद्र मोदी जी खुद को अति पिछड़ा वर्ग से सम्बद्ध करेंगे। ऐसा उन्होंने शनिवार की कन्नौज रैली में किया है।' उन्होंने कहा कि सच्चाई यह है कि मोदी जन्म से ऊंची जाति से हैं। जबकि कागजों पर वह अति पिछड़े हैं। पीएम मोदी वोटों का रुख अपनी ओर खींचने के लिए बहुत सी बातें कहते हैं।

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप