रांची, राज्य ब्यूरो। Lok Sabha Election 2019 - रांची में तीन किलोमीटर के रोड शो का असर चुनाव पर कितना पड़ा यह तो परिणाम से पता चलेगा लेकिन रोड शो के साथ ही बड़े जोरदार तरीके से शहर के चौक-चौराहों पर मोदी की वापसी चर्चाओं के बाजार में हुई है। यूं कहिए कि भाजपा के लिए भी मोदी माहौल गर्म करने में सफल हुए। यह सफलता सिर्फ रांची के लिए नहीं बल्कि पूरे झारखंड में असर दिखाएगा, खासकर तब जब मोदी स्वयं इसकी चर्चा बुधवार को आयोजित रैली में कर गए। पूरा देश इसे सुन रहा था और झारखंड के लोगों का ध्यान इस रैली की ओर खासकर था।

मंगलवार को रांची के व्यापारिक केंद्र अपर बाजार स्थित नॉन ब्रांडेड कपड़ों की थोक मंडी में मोदी की चर्चा जमकर चली। यह वही समुदाय है जिसके बारे में कहा जाता रहा है कि नोटबंदी और जीएसटी से इनके कारोबार प्रभावित हुए। भारी नुकसान हुआ। इन बातों को छोड़कर व्यापारी मोदी की तारीफों में ही डूबे रहे। लोहरदगा का भाषण भी सुन रखा था लोगों ने। राष्ट्रवाद हर एक इंसान की जुबां पर चढ़ गया है और रही-सही कसर सभी समाचार चैनलों पर मोदी के साक्षात्कार ने पूरी कर दी।

अक्षय कुमार के साथ बातचीत के विभिन्न पहलुओं की चर्चा व्यापारी अपनी बातों में करते हैं। इसी बीच कपड़ा व्यापारी जगदीश सरदाना बोल उठते हैं, व्यापारियों को टैक्स देने में कभी परेशानी नहीं थी लेकिन इंस्पेक्टर राज से परेशानी तो थी। जीएसटी के बाद से व्यापारियों को इससे राहत मिली है। राकेश तिवारी उलटे पूछ लेते हैं, बताइए मोदी जैसा कोई शख्स विपक्ष में है। संतोष गुप्ता इस चर्चा को यह कहते हुए आगे बढ़ाते हैं कि राज्य में जो भी हो, केंद्र में तो मोदी ही आएंगे। इस तरह की चर्चाओं में विपक्ष की बातें भी होती हैं लेकिन अधिक चर्चा मोदी और भाजपा की ही होती रही। शहर के दूसरे इलाकों में भी यही हाल रहा। 

अफवाह का दौर भी शुरू, रामटहल को लेकर सर्वाधिक बातें
शहर में अफवाह का दौर भी चरम पर है। रामटहल चौधरी को लेकर सर्वाधिक चर्चाएं चल रही हैं और कहीं उनके चुनाव नहीं लडऩे की बात सामने है तो कहीं आरएसएस का पैगाम की बातें आ रही हैं। लोग भी जानते हैं कि बातें निराधार हैं लेकिन चर्चाएं रुक नहीं रहीं। कई लोग दावा कर रहे हैं पीएम से मिलने के लिए रामटहल को बुलाया भी गया था, संदेश पहुंचा दिया गया है, वगैरह... वगैरह।

आधी रात पीएम का संदेश लेकर रामटहल के पास पहुंचे भाजपाई
रांची लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए भाजपा का टिकट नहीं मिलने से क्षुब्ध होकर निर्दलीय चुनाव लड़ रहे वर्तमान सांसद रामटहल चौधरी ने दावा किया है कि मंगलवार की आधी रात भाजपा के कुछ समर्पित कार्यकर्ताओं ने उनसे संपर्क साधा। चौधरी ने कहा कि कार्यकर्ता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हवाला देकर एक बार उनसे मिल लेने की वकालत कर रहे थे, जिसे उन्होंने यह कहकर खारिज कर दिया कि अब भाजपा से उनका कोई नाता नहीं रहा। वे बुधवार को दैनिक जागरण से फोन पर बात कर रहे थे।

चौधरी से यह पूछने पर कि उनके चुनाव से किनारा करने की चर्चा जोरों पर है, उन्होंने इसे सिरे से खारिज किया। कहा कि मैं पूरी तरह से चुनाव प्रचार में जुटा हूं। गुरिल्ला युद्ध लड़ रहा हूं। घर-घर अभियान चल रहा है। उन्होंने अन्य दलों की ओर इशारा करते हुए कहा कि उनके पास पैसा है, पर आदमी नहीं और मेरे पास आदमी है पर पैसा नहीं। उन्होंने कहा कि बुधवार को कांके विधानसभा क्षेत्र के सिमरबेड़ा उनका चुनावी अभियान चला। शाम में सात-आठ शादियों में शिरकत करने का क्रम देर रात तक जारी रहा। गुरुवार को वे 11-12 बजे तक कार्यकर्ताओं के साथ चुनावी मंत्रणा करेंगे। इसके बाद चुनाव प्रचार में निकलेंगे। उन्होंने अपनी जीत को सुनिश्चित बताया, कहा जनता का अपार समर्थन उन्हें मिल रहा है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस