बोकारो, जेएनएन। गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे झामुमो के प्रत्याशी विधायक जगरनाथ महतो पांच वर्ष में अपनी आमदनी बढ़ाने में कामयाब रहे हैं। उन्होंने इस दौरान अपने व्यवसाय पर ध्यान दिया है। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में की गई घोषणा के अनुसार जगरनाथ महतो के पास कुल चल संपत्ति 24 लाख 47 हजार 548 रुपये थी जो 2019 में बढ़कर 1 करोड़ 43 लाख 28 हजार 896 रुपये हो गई। यही नहीं, विधायक की पत्नी की चल संपत्ति भी दोगुनी हो गई।

2014 में दिए गए शपथ पत्र के अनुसार 12 लाख 3 हजार रुपए की चल संपत्ति थी। जबकि 2019 में बढ़कर यह संपत्ति 29 लाख 89 हजार 715 रुपए हो गई है। हालांकि विधायक ने इस दौरान कर्ज भी लिया है। 2014 में विधायक के उपर सरकार का 52582 रुपये कर्ज था तथा बैंक का ऋण 4 लाख 1 हजार 893 रुपये था। 2019 में विधायक पर 51 लाख 17 हजार 330 रुपये तथा उनकी पत्नी पर 25 लाख 34 हजार 638 रुपये है। जगरनाथ महतो पर तीन मुकदमे में लंबित हैं। इनमें से एक दिवानी मुकदमा है जबकि दो आपराधिक मुकदमा लंबित है।

2014 के शपथ पत्र के अनुसार

1.  हाथ में नगदी - 65000 रुपये

2. चल संपत्ति : 24 लाख 47 हजार 546 रुपये।

3. पैतृक अचल संपत्ति का मूल्य : 19 लाख  50 हजार रुपये।

4. पत्नी के नाम से चल संपत्ति : 12 लाख 3 हजार रुपये।

5. बच्चों के राष्ट्रीय बचत योजना में  3 लाख 91 हजार 920 रुपये। 

वर्ष 2019 में दिए गए शपथ पत्र के अनुसार

1.  हाथ में नगदी - 82300 रुपये

2. बैंक एवं वित्तीय संस्था में जमा : 22 लाख 21 हजार 39 रुपये।

3. पत्नी के नाम से बैंक एवं वित्तीय संस्थाओं में जमा : 23 लाख 44 हजार रुपये। 

3. पैतृक अचल संपत्ति का मूल्य :  22 लाख 52 हजार रुपये। 

5. विधायक पर बैंक का कर्ज 51 लाख 17 हजार 330 रुपये।

6. उनकी पत्नी पर बैंक ऋण 25 लाख 34 हजार 638 रुपये है।

Posted By: mritunjay