शिमला, जेएनएन। कांगड़ा संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्‍याशी किशन कपूर ने चार लाख 77 हजार 623 वोट से रिकॉर्ड जीत हासिल की है। उन्‍होंने कांग्रेस के पवन काजल को हराया। शिमला संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्‍याशी सुरेश कश्‍यप तीन लाख 27 हजार मत से विजयी हो गए हैं। उनके प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के धनीराम शांडिल को दो लाख 77 हजार 647 मत पड़े। मंडी संसदीय क्षेत्र में भाजपा प्रत्‍याशी रामस्‍वरूप शर्मा ने चार लाख पांच हजार 459 वोट से जीत हासिल की है।

भाजपा के अन्‍य दो प्रत्याशियों ने भी अजेय बढ़त हासिल कर ली है। अब महज औपचारिकता ही बाकी है। कांगड़ा से किशन कपूर चार लाख 66 हजार वोट की बढ़त हासिल कर चुके हैं। हमीरपुर से अनुराग ठाकुर ने तीन लाख 65 हजार से अधिक वोट की बढ़त बनाई है, जो हिमाचल में अब तक रिकॉर्ड बढ़त है।

आठवें राउंड के रुझान के मुताबिक मंडी संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्‍याशी रामस्‍वरूप शर्मा दो लाख 75 हजार, हमीरपुर से अनुराग ठाकुर दो लाख्‍ा 38 हजार मतों से आगे हैं। कांगड़ा से किशन कपूर ने भी ढाई लाख वोट की बढ़त बना ली है। शिमला से सुरेश कश्‍यप ने दो लाख 49 हजार की लीड हासिल कर ली है।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्‍यक्ष सतपाल सत्‍ती ने कहा सबसे अधिक वोट शेयर लेकर हमारा बेहतरीन प्रदर्शन रहा है। अब केंद्र से बड़ा ईनाम मिलने की उम्मीद है।

वीरभद्र सिंह ने दी मोदी को बधाई

पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने नरेंद्र मोदी को बधाई दी। उन्‍होंने कहा वह जनता के फैसले का स्वागत करते हैं। कांग्रेस ने एकजुट होकर मेहनत की और प्रयास किया। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल दो माह से लगातार हिमाचल में कार्य करती रहीं, सभी के प्रयासों के बावजूद जनता ने जो फैसला दिया है, उसका स्वागत करते हैं।

शिमला में भाजपा को मिली बढ़त के बाद जीत की खुशी में शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज को मिठाई खिलाते पार्टी कार्यकर्ता।

चौथे राउंड में शिमला संसदीय सीट पर कांग्रेस के धनीराम शांडिल को 60359 व सुरेश कश्यप को 137151 मत मिले हैं। मंडी से आश्रय शर्मा को 62800 व रामस्वरूप को 154438 मत पड़े हैं। कांगड़ा से भाजपा के किशन कपूर को 129092 व पवन काजल को 40174 मत प्राप्‍त हुए हैं। हमीरपुर से अनुराग ठाकुर को 152525 व रामलाल ठाकुर को 59644 मत मिले।

शिमला संसदीय क्षेत्र के तहत धामी 16 मील कॉलेज में मतगणना केंद्र में बैठे भाजपा उम्‍मीदवार सुरेश कश्यप।

शिमला में भाजपा के सुरेश कश्‍यप 42 हजार, अनुराग ठाकुर 52700, कांगड़ा में किशन कपूर 49 हजार मतों से बढ़त बनाए हुए हैं। हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से भाजपा के अनुराग ठाकुर कांग्रेस के रामलाल ठाकुर से आगे चल रहे हैं। ऊना में पहले राउंड में अनुराग ठाकुर को छह हजार मतों की बढ़त बनाई थी। कांगड़ा में किशन कपूर आगे रहे। पहले राउंड में शिमला में भाजपा के सुरेश कश्‍यप 9878 मत व कांग्रेस के धनीराम शांडिल को 3733 मत मिले हैं। मतगणना के साथ ही हिमाचल की चारों संसदीय सीटों पर चुनाव मैदान में उतरे 45 प्रत्याशियों के भविष्य का फैसला हो जाएगा। प्रदेश की चार लोकसभा सीटों पर मुख्य मुकाबला भाजपा व कांग्रेस प्रत्याशियों में है। लेकिन उम्मीदवारों की ज्यादा संख्या जीत के समीकरण बिगाड़ सकती है।

मंडी संसदीय क्षेत्र के तहत कुल्‍लू में मतगणना केंद्र से 100 मीटर की दूरी पर अंदर आने वाले लोगों के आईकार्ड जांचते पुलिस कर्मचारी।

प्रदेश में सबसे अधिक 17 उम्मीदवार मंडी संसदीय सीट पर हैं। हालांकि मुख्य मुकाबला भाजपा प्रत्याशी रामस्वरूप और कांग्रेस उम्मीदवार आश्रय शर्मा में है। आश्रय संचार क्रांति के मसीहा कहे जाने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम के पोते और भाजपा विधायक अनिल शर्मा के बेटे हैं। इस सीट पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और सुखराम की साख दांव पर है। सुखराम के पोते के प्रेम में बेटे अनिल शर्मा को मंत्री पद गंवाना पड़ा। हमीरपुर संसदीय सीट पर 11 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। मुख्य मुकाबला चौथी बार सांसद बनने की दौड़ में शामिल भाजपा प्रत्याशी अनुराग ठाकुर और कांग्रेस उम्मीदवार रामलाल ठाकुर में है।

मंडी संसदीय क्षेत्र के तहत किन्नौर विधानसभा क्षेत्र के रिकांगपिओ में मतगणना में जुटे कर्मचारी।

कांगड़ा संसदीय सीट से 11 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। मुख्य मुकाबला खाद्य आपूर्ति मंत्री किशन कपूर और कांग्रेस प्रत्याशी पवन काजल के बीच है। शिमला संसदीय क्षेत्र में मुख्य मुकाबला दो पूर्व सैनिकों कांग्रेस प्रत्याशी धनीराम शांडिल और भाजपा उम्मीदवार सुरेश कश्यप के बीच है। इस सीट पर छह प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।लोकसभा चुनाव में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर, जयराम सरकार के मंत्रियों, विधायकों और निगमों, बोर्डो के अध्यक्षों व उपाध्यक्षों की साख भी दांव पर है।

मतगणना व जीत के जश्न में खलल डाल सकती है आंधी व ओलावृष्टि

लोकसभा चुनाव के लिए हुए मतदान की 23 मई को होने वाली मतगणना व जीत के जश्न को आंधी व ओलावृष्टि प्रभावित कर सकती है। मौसम विभाग ने वीरवार को हिमाचल के छह जिलों बिलासपुर, कांगड़ा, मंडी, शिमला, सोलन व सिरमौर में 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चलने और ओलावृष्टि की चेतावनी जारी की है। प्रदेश में गर्मी का प्रकोप बढ़ गया है। बुधवार को नई दिल्ली से ज्यादा गर्म ऊना रहा। ऊना में अधिकतम तापमान 41.4 डिग्री सेल्सियस जबकि दिल्ली में 41 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

प्रदेश में सोलन व धर्मशाला से ज्यादा गर्म शिमला हो गया है। बुधवार को शिमला का न्यूनतम तापमान 16.2 डिग्री सेल्सियस जबकि सोलन में 14.6 और धर्मशाला में 15.6 डिग्री सेल्सियस रहा। हालांकि अधिकतम तापमान इन दोनों स्थानों से कम रहा है। पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से प्रदेश में मौसम का मिजाज बिगड़ेगा। आंधी चलने और ओलावृष्टि होने पर लोगों को गर्मी से राहत मिलेगी। बुधवार को कुछ क्षेत्रों में बादल छाए रहे। पहाड़ों की रानी शिमला में भी गर्मी ने असर दिखाया।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप