जम्मू, राज्य ब्यूरो। प्रचार थमने के बाद राजनीतिक पार्टियां ने बूथ स्तर की रणनीति बना ली है। जम्मू पुंछ संसदीय सीट के लिए 11 अप्रैल को होने वाले मतदान में बूथ पर कड़ी टक्कर देकर राजनीतिक लक्ष्य हासिल करने के लिए पार्टियां तैयार हैं।

प्रचार के अंतिम दिन यहां उम्मीदवारों के साथ अन्य वरिष्ठ नेताओं ने व्यापक प्रचार किया तो वहीं प्रदेश पदाधिकारियों ने पोलिंग बूथ के कार्यकर्ताओं के साथ बैठकें की। इस दौरान पोलिंग बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारियों सौंपने के साथ पार्टी कार्यकर्ताओं को बूथ पर वोट दिलवाने के लिए सीक्रेट टिप्स भी दिए गए। जम्मू पुंछ संसदीय क्षेत्र में वोटिंग के लिए 4479 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। मतदान के दिन पोलिंग बूथ के अंदर यहां एक में युवा सुनिश्चित करेगा कि मतदान निष्पक्षता से हो, तो नौ अन्य वार्ड में अधिक से अधिक लोगों को मतदान के लिए बाहर लाने की मुहिम चलाएंगे। प्रदेश भाजपा, कांग्रेस, पैंथर्स पार्टी व अन्य राजनीतिक दलों ने यह रणनीति विधानसभा क्षेत्र स्तर पर हुई सीक्रेट बैठकों में बनाई।

ऐसे में अपने आधार वाले क्षेत्रों में लोगों को घर से बाहर लाने के लिए बड़े पैमाने पर कोशिशें की जा रही हैं। जम्मू शहर में लोगों को मतदान के प्रति जागरूक करने के लिए प्रदेश भाजपा के साथ राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यकर्ता भी सक्रिय हैं। मंगलवार को वार्ड स्तर पर मुहिम चला रहे संघ के कार्यकर्ता किसी भी उम्मीदवार का नाम लिए बिना लोगों के घर घर जाकर आग्रह कर रहे थे कि मतदान के दिन घर में सीमित न रहें, वोट डालने के लिए मतदान केंद्र में आएं।

हर बूथ पर हमारे यूथ तैयार : कर्मठ कार्यकर्ताओं को बूथ स्तर पर मतदान पर नजर रखने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। प्रदेश भाजपा एक बूथ, दस यूथ के नारे के साथ चुनाव मैदान में है। प्रदेश अध्यक्ष रविन्द्र रैना का कहना है कि जम्मू -पुंछ संसदीय क्षेत्र के हर कोने में हमारे यूथ तैयार हैं। उनके जोश की बदौलत भाजपा चुनाव में कामयाब होगी।

पोलिंग स्टेशनों पर पहुंची पार्टियां, कल पड़ेंगे वोट

जम्मू पुंछ संसदीय सीट के लिए ग्यारह अप्रैल को होने वाले चुनाव के लिए मतदान केंद्र तैयार हो गए हैं। पोलिंग पार्टियों ने मतदान केंद्रों में जाकर पानी, बिजली व अन्य सुविधाओं का जायजा लिया। शहर के मतदान केंद्रों में आज ईवीएम, वीवीपैट मशीनें उपलब्ध करवा दी जाएंगी। जम्मू में मौलाना आजाद मेमोरियल कॉलेज और पालीटेक्निक कॉलेज में स्ट्रांग रूम बनाए गए हैं। वहीं तहसील स्तर पर भी स्ट्रांग रूम बनाए गए हैं। पोलिंग पार्टियों को आज ईवीएम और वीवीपैट उपलब्ध करवा दी जाएगी। वे सुरक्षा कारणों से आज की रात वहीं बिताएंगे। अगले दिन ग्यारह अप्रैल को चुनावी प्रक्रिया पूरी करने के बाद शाम को ही वापस मतदान केंद्र छोड़ सकेंगे। 

मौलाना आजाद मेमोरियल कॉलेज 13 तक बंद

मौलाना आजाद मेमोरियल कॉलेज और पालीटेक्निक कालेज को 9 अप्रैल से 13 अप्रैल तक बंद किया गया। मौलाना आजाद मेमोरियल कालेज और पालीटेक्निक कालेजों में स्ट्रांग रूम बनाए गए हैं। मतदान के बाद ईवीएम को इन दोनों कॉलेजों में रखा जाना है और बाद में मतगणना भी यहीं पर होनी है। डीसी रमेश कुमार के आदेश अनुसार आज से कॉलेज 13 अप्रैल तब बंद रखें जाएंगे। इस दौरान कॉलेजों का स्टाफ, चौकीदार समेत उपस्थित रहेंगे, लेकिन पढ़ाई या अन्य कामकाज नहीं होगा। कॉलेजों को इस अवधि के दौरान चुनावी प्रक्रिया के लिए ही इस्तेमाल किया जाएगा।

चैनलों व समाचारपत्रों की निगरानी शुरू

पहले चरण के लिए 11 अप्रैल को होने वाले मतदान से पूर्व व मतदान के दिन किसी तरह के भी प्रचार हथकंडों पर नजर रखने के लिए भारतीय चुनाव आयोग ने निगरानी केंद्र स्थापित किए हैं। ये केंद्र मंगलवार शाम छह बजे से ही सक्रिय हो गए हैं। अब मतदान सम्पन्न होने तक हर टीवी चैनल व समाचार पत्र पर नजर रखेंगे। आयोग ने सूचना मंत्रलय में इलेक्ट्रानिक मीडिया मोनीटरिंग सेंटर को यह जिम्मेदारी सौंपी है। ये केन्द्र हर दो घंटे में अपनी रिपोर्ट आयोग को देंगे। यह व्यवस्था लोकसभा चुनाव संपन्न होने तक लागू रहेगी और केंद्र को अगर कहीं से भी चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का पता चलता है तो वे संबंधित मुख्य चुनाव अधिकारी को सूचित करेंगे। ऐसे उल्लंघन में कार्रवाई करने का अधिकार भी संबंधित मुख्य चुनाव अधिकारी के पास होगा।

हर घंटे मतदान की रिपोर्ट

पहले चरण के लिए वीरवार को जम्मू-पुंछ संसदीय सीट के लिए होने जा रहे मतदान की चुनाव अधिकारियों को हर घंटे में रिपोर्ट देनी होगी। अगर कहीं पर कोई ईवीएम मशीन खराब होती है तो उसे 90 मिनट में बदला जाना अनिवार्य होगा। यह जानकारी जिला चुनाव अधिकारी रमेश कुमार ने मंगलवार को जोनल मजिस्ट्रेट व अन्य चुनाव अधिकारियों को दी। शिक्षक भवन में आयोजित प्रशिक्षण सत्र में रमेश कुमार ने इन अधिकारियों को हर मतदान केन्द्र में बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करवाने का निर्देश दिया।

Posted By: Rahul Sharma