भागलपुर [जेएनएन]। बिहार में लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, भागलपुर और बांका में मतदान हो रहा है। वहां पहली बार वोट देने आए युवाओं ने काफी उत्साह दिख रहा है। ऐसे वोटर जात-पात और धर्म के आधार पर वोट नहीं देने की बात करते दिखे। उन्‍हें तो केवल विकास चाहिए। ऐसे वोटर यह जानने के लिए उत्सुक दिखे कि वोट डाला कैसे जाता है। वे इसकी प्रक्रिया भी सीखते नजर आए।

वोट डालकर अच्छा लगा
किशनगंज के विभिन्न मतदान केन्द्रों पर पहली बार वोट करने पहुंचे राहुल, जानकी, अर्चना, पूजा, अशफाक, प्रिया आदि ने बताया कि अब तक केवल वोट के बारे में सुनते आये थे। इस बार वोट करने का अवसर मिला। इसके लिए पिछले कई दिनों में उत्साहित था। वोट डालकर अच्छा लगा।

इशाकचक में पहली वार वोट डालने आए दिनेश और राजेश में काफी उत्साह था। दोनों सुबह छह बजे से मतदान केन्द्र पर आ गए। वोट डालने के बाद बहुत देर अन्य लोगों से दोनों अनुभव साझा कर रहे थे।

राजकीय मध्य विद्यालय इशाकचक में अनुराग कृष्ण ने पहली बार वोट डाला। वहीं, इशाकचक कुम्हार टोली के रवि अपने सा‍थी के साथ पहली वार वोट डालने पहुंचे। 

बेहतरी के लिए वोट 
भागलपुर के भीखनपुर बूथ संख्या 211 पर पहली बार वोट डालने आई पद्मजा सिन्हा ने कहा कि लोकतंत्र के महापर्व में योगदान कर काफी खुश हैं। वे बेहतरी के लिए वोट डाल रहे हैं। 

पहले डर लगता था, आज पहली बार डाला वोट
भागलपुर के इशाकचक स्थित न्यू ईरा एकेडमी के प्राचार्य सरोज वर्मा ने कहा कि हालांकि उनका वोटर लिस्‍ट में नाम बहुत पहले से है, लेकिन इस बार पहली बार वोट डालने का अवसर मिला। उन्‍होंने अपना वोट उर्दू मध्‍य विद्यालय इशाकचक के बूथ पर डाला। उन्‍होंने कहा कि एक-एक वोट की कीमत है। वोट से बेहतर सरकार बनेगी, जिससे देश सुरक्षित रहेगा। उन्‍होंने बताया कि वे दिव्‍यांग होने के कारण अब तक वोट नहीं दे पाए थे। वोट डालने जाने में डर लगता था। लेकिन इस बार बेहतर व्यवस्था देखने को मिली तो वोट देने गए। दो पुलिसकर्मियों ने सहायता देते हुए बूथ तक पहुंचाया।


पहली बार वोट देकर मिली खुशी
भागलपुर के गोराडीह प्रखंड के कोहड़ा के एक बूथ पर वोट देने गए प्रतीक अग्निहोत्री ने कहा वे पहली बार वोट देकर काफी खुश हैं। उन्होंने कहा कि बूथ पर अच्छी व्यवस्था थी। पुलिसकर्मी और मतदानकर्मी सहयोग कर रहे थे। उन्होंने कहा देख व इलाके के विकास के लिए लोकतंत्र के महापर्व में सभी को भाग लेनी चाहिए।

अविस्मरणीय है वो पल 
भागलपुर के बुनियादी हिन्दी मध्य विद्यालय (भीखनपुर, भट्ठा रोड) बूथ पर वोट देने पहुंची दीक्षा कुमारी ने कहा कि पहली बार मतदान का अनुभव काफी अच्छा रहा। वोट डालने के दौरान जिस समय सीटी की आवाज सुनाई दी, रोमांच से भर गई। वह पल अविस्मरणीय है।

अद्भुत क्षण था
भागलपुर के सिकंदरपुर पानी टंकी बूथ पर जिम्मी ने बताया कि वे वोट डालने पटना से आई हैं। उन्होंने कहा कि पहली बार वोट डालने का आनंद किसी उपलब्धि से कम नहीं था। मैं इस अद्भुत क्षण में अपनी डायरी में लिखकर रखूंगी। उन्होंने कहा लोकतंत्र के महापर्व में सभी को भाग लेनी चाहिए। इससे और देश और सरकार दोनों समृद्ध होता है। वे सिकंदपुर की रहने वाली हैं और आइजीआइएमएस पटना में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहीं हैं।

लोकतंत्र का महापर्व है मतदान 
भागलपुर के झुनझुनवाला आदर्श बालिका उच्च विद्यालय चुनिहारी टोला के बूथ पर प्रिया शर्मा वोट डालने पहुंची। वे अपनी मां के साथ वोट डालने आईं थीं। उन्होंने कहा मैंने विकास के नाम वोट दिया। प्रिया ने अपील करते हुए कहा कि सभी को मतदान में भाग लें। यह लोकतंत्र का महापर्व है। इससे देश समृद्ध होता है। सरकार मजबूत होती है। समृद्ध लोकतंत्र ही भारत की पहचान है। यह लोकतांत्रिक या प्रजातांत्रिक देश है। 

नए मतदाताओं में दिखा उत्साह
नए मतदाताओं में लड़के लड़कियों के साथ ससुराल में पहली बार वोट देने जा रही नई बहूरियां भी शामिल थी। विभिन्न पदों के लिए चुनाव लड़ रहे प्रत्याशी एक-एक वोट का आकलन करने में लगे हुए थे। वहीं पटना में पढ़ रहे छात्र विवेक कुमार ने भीखनपुर में मतदान के बाद बताया कि वे पहली बार वोट डालने के लिए आया है। वोट देने के लिए उसने दो दिन छुट्टी ले ली है। उसने बताया कि मतदाता अगर अपनी जिम्मेदारी समझ कर सही प्रत्याशी को वोट करेगा तो गांव का विकास होना ही है।

पीरपैंती के बूथ नंबर 240 पर बुलंद हौसले के साथ पहली बार लोकतंत्र के महायज्ञ में अपने वोट की आहुति देने पहुची अंजलि कुमारी। बोली दुनिया का यह सबसे बड़ा लोकतंत्र सदैव स्वाथ्य और मजबूत रहेगा।

ईवीएम देखने का मिला अवसर
कटिहार के विभिन्न केन्‍द्रों पर पहली बार वोट डालने आये राजू, रौनक, प्रकाश, आदित्य की खुशी का ठिकाना नहीं था। पूर्णिया के श्रीमान, आदर्श, शमशाद, अशफाक, रोशनी, आदिल ने भी पहली बार वोट डाले। इसी तरह बांका की नंदिता, पुष्पांजलि, रोशनी, आनंद आदि खुश थे कि वोटिंग मशीन (ईवीएम) देखने का अवसर मिला।

अपने-अपने अंदाज में रखी बात
कुल मिलकार दूसरे चरण के मतदान के दौरान पहली बार वोट देने वाले युवाओं ने अपने-अपने अंदाज में अपनी बात रखी। हालांकि, दो बातें जो सबमें सामान्य दिखीं, वे हैं उनका उत्साह व देश को लेकर सोच।

Posted By: Dilip Shukla