भागलपुर [जेएनएन]। भागलपुर के नव‍गछिया और सुल्तानगंज में गुरुवार को पूर्व उपमुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी यादव की कई सभाएं हुई। सुल्तानगंज विधानसभा क्षेत्र बांका लोकसभा में है। वहीं, बांका के फुल्लीडुमर में भी तेजस्वी ने चुनावी सभा को संबोधित किया। उन्होंने भागलपुर और बांका में महागठबंधन प्रत्याशी राजद उम्मीदवार क्रमश: सांसद शैलेश कुमार उर्फ बुलो मंडल और सांसद जयप्रकाश नारायण यादव के लिए वोट मांगे।

इन सभाओं में तेजस्वी यादव ने राज्य सरकार पर निशाना साधाते हुए कहा कि बिहार की जनता ने अब चाचा जी को पहचान लिया है। यहां जनता ने 2014 में मोदी लहर के बावजूद बुलो मंडल और जयप्रकाश नारायण यादव को लोकसभा भेजा, इसके लिए वो बधाई के पात्र हैं।

उन्होंने भाजपा के कई नेताओं की बयानबाजी पर आपत्ति उठाते हुए कहा कि भाजपा के साथ जो रहे, वो राष्ट्रभक्त और जो न रहे वो देशद्रोही, यह कहां का न्याय है। गुमराह करने वालों को जनता 2019 में सबक सिखाने का काम करेगी।

उन्होंने कहा कि सृजन चोर आज खुले में घूम रहे हैं, ये भ्रष्टाचारी नहीं हैं क्या? उन्होंने कहा कि शराबबंदी के बाद भी शराब मिल रही है या नहीं? उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि 200 रुपये की शराब आज 1500 में बिक रही है, बाकी पैसे सरकार को पहुंचती है। नीतीश कुमार ने गरीब का हक मार कर शराब माफियाओं से सांठ-गांठ कर बिहार की जनता को लूटने का काम किया है।

तेजस्वी यादव ने कहा कि मोदी सरकार यदि दोबारा आ गई तो फिर देश में कभी कोई चुनाव नहीं होगा। राजा-महाराजा का शासन होगा। उन्होंने ने कहा कि अभी देश में सरकारी नौकरियों में पूरे 22 लाख पद रिक्त हैं। लेकिन मोदी सरकार नियुक्ति नहीं कर रही है। जानते हैं क्यों? क्योंकि, दोबारा सत्ता में मोदी आए तो सब प्राइवेट क्षेत्र में चला जाएगा। उनके राज में कोई सरकारी नौकरी नहीं होगी। तेजस्वी ने कहा कि बात मोदी की नहीं, मुद्दे की कीजिए। आप जब मुद्दा शिक्षा, गरीबी, बेरोजगारी, सिंचाई, सड़क, बिजली की उठाएंगे तो वे पाकिस्तान, कश्मीर, राम मंदिर का राग अलापने लगेंगे।


मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए तेजस्वी ने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार के इशारे पर मुझे व मेरे पूरे परिवार को केस में फंसाया जा रहा है। यहां तक कि मेरी सातों बहनों, उनके ससुराल वालों को भी केस में फंसाया है। मुझे 13 वर्ष की उम्र में घोटाला करने का आरोप लगाया है। हम सच्चे हैं। हम डरे नहीं। लेकिन सृजन घोटाला से बचने के लिए नीतीश कुमार भाजपा की गोद में चले गए। हम भी भाजपा से मिल जाते तो आज बिहार के मुख्यमंत्री रहते। मेरे पिता लालू प्रसाद ने गरीब गुरबों को सम्मान से जीने का हक दिया। इसीलिए उन्हें झूठे आरोप में फंसा कर जेल में डाल दिया। ये लोग जानते हैं कि शेर बाहर रहेगा तो इनकी नहीं चलेगी।


किसान कर्ज में डूबा हुआ है। लेकिन सारे काम छोड़कर शराबबंदी कर दी गई। जिसके कारण दो सौ रुपये की शराब अब 1500 रुपये में बिक रही है। पूरे सूबे में शराब की होम डिलेवरी हो रही है। छोटे छोटे लोगों को पकड़ कर जेल में डाला जा रहा है। बड़े शराब माफिया को कुछ भी नहीं कह पा रहे हैं। बालू पहले के अपेक्षा आज काफी महंगा हो गया। नवगछिया में सभा को बुलो मंडल और नगर विधायक अजीत शर्मा तथा सुल्तानगंज में प्रत्याशी जयप्रकाश नारायण यादव के अलावा अन्य लोगों ने भी संबोधित किया।

वहीं नवगछिया के इंटरस्तरीय विद्यालय में तेजस्वी के चुनावी सभा में भाजपा बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के जिला प्रभारी डॉ नीतीश कुमार यादव राजद में शामिल हो गए। इन सभाओं में सांसद बुलो मंडल, जयप्रकाश यादव और साधु यादव भी थे।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस