मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्‍ली, जेएनएन। लोकसभा चुनावों के लिए रविवार को भाजपा ने नौ उम्‍मीदवारों की सातवीं सूची जारी की है। छत्‍तीसगढ़ से सभी सांसदों का टिकट काट दिया गया है। इसमें रमन सिंह के बेटे अभिषेक सिंह और छह बार के सांसद रमेश बैस भी शामिल हैं। इस तरह अब तक 306 उम्‍मीदवारों की घोषणा हो गई है। 

छत्‍तीसगढ़ में कोरबा से ज्‍याति नंद दुबे, बिलासपुर से अरुण साव, राजनंदगांव से संतोष पांडेय, दुर्ग से विजय बघेल, रायपुर से सुनील सोनी, महासमुंद से चुन्‍नीलाल साहू को उम्‍मीदवार बनाया गया है। तेलंगाना में मेढक से रघुनंदन राव, मेघालय में तूरा से रिकमैन जी मामिन, महाराष्‍ट्र से भंडारा-गोंदिया से सुनील बाबूराव मेढे को उम्‍मीदवार बनाया है। 

छत्तीसगढ़ में नए चेहरे पर दांव को राज्य विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के हाथों मिली करारी हार के परिणाम के रूप में देखा जा रहा है। पहले चर्चा थी कि पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को उनके गृह संसदीय क्षेत्र राजनांदगांव से मैदान में उतारा जाएगा। 

पार्टी ने छत्‍तीसगढ़ में अपने बचे हुए पांच सांसद रमेश बैस, चंदुलाल साहू, पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह के पुत्र अभिषेक सिंह, बंशीलाल महतो, लखनलाल साहू का भी टिकट काटकर सभी नए चेहरों पर दांव खेला है। 2014 के चुनाव में राज्य की 11 में से 10 सीटों पर भाजपा जीती थी। इस बार एक भी सांसद को लोकसभा का टिकट नहीं मिला।

भाजपा ने टिकट वितरण में जातीय संतुलन साधने का प्रयास किया है। रायपुर से पूर्व महापौर सुनील सोनी को मैदान में उतारा है, वहीं दुर्ग लोकसभा सीट में कांग्रेस को कड़ी चुनौती देने के लिए कुर्मी समाज के नेता व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के रिश्तेदार विजय बघेल को टिकट दे दिया है। विजय बघेल पाटन के पूर्व विधायक हैं। जबकि बिलासपुर से वकील अस्र्ण साव को प्रत्याशी बनाया है।

साव संघ परिवार से जुड़े हैं और संगठन में पकड़ रखने वाले नेता माने जाते हैं। महासमुंद सीट से खल्लारी के पूर्व विधायक चुन्नीलाल साहू को प्रत्याशी बनाकर साहू कार्ड खेला है। कोरबा और राजनांदगांव लोकसभा में पार्टी ने ब्राह्मण नेताओं को प्रत्याशी बनाया है। कोरबा से ज्योतिनंद दुबे और राजनांदगांव से संतोष पांडेय चुनाव लड़ेंगे। 

भाजपा ने शनिवार को पांच अलग-अलग सूचियां जारी कर 01, 36, 17, 11 और 48 लोकसभा प्रत्याशियों की घोषणा की। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की अध्यक्षता और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में इन नामों को मंजूरी दी गई। इस तरह प्रथम दो चरणों के सभी उम्मीदवारों के नामों का एलान हो गया है।

36 प्रत्याशियों की सूची में 23 आंध्र प्रदेश, छह महाराष्ट्र, पांच ओडिशा, एक-एक प्रत्याशी मेघालय और असम का है। 17 प्रत्याशियों की सूची में सभी बिहार के हैं। जबकि 11 प्रत्याशियों की सूची में छह तेलंगाना, तीन पश्चिम उत्तर प्रदेश, एक-एक प्रत्याशी केरल और पश्चिम बंगाल का है।

48 प्रत्याशियों की सूची में झारखंड के 10, गुजरात के 15, मध्य प्रदेश के 15, गोवा के दो, हिमाचल प्रदेश के चार और कर्नाटक के दो नाम शामिल हैं। पार्टी ने आंध्र प्रदेश विधानसभा की 51 और ओडिशा विधानसभा की 22 सीटों के लिए भी प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं। साथ ही गोवा और गुजरात की तीन-तीन विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव के लिए भी प्रत्याशियों का एलान कर दिया गया है।

पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा को ओडिशा की पुरी सीट से प्रत्याशी बनाया गया है। इस तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस सीट से भी लड़ने की अटकलों पर विराम लग गया है। 

 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप