नई दिल्ली, जेएनएन। Faridabad Lok Sabha Election Result 2019 Live: लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैक्टर के सामने जिले में क्षेत्रीय दलों का पूरी तरह से सफाया हो गया है। बहुजन समाज पार्टी(बसपा) को छोड़ कर इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो), जननायक जनता पार्टी (जजपा) अपनी उपस्थिति दर्ज नहीं करा पाई हैं। कांग्रेस की हार का सबसे बड़ा कारण किसी भी स्तर पर संगठन का न होना माना जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लहर में केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने रिकार्ड मतों से अपनी जीत दर्ज कर दोबारा से सीट पर कब्जा किया है। उन्होंने 913222 मत हासिल किए। निकटतम प्रतिद्वंद्वी अवतार सिंह भडाना ने 274983 मत हासिल किए और महेंद्र सिंह चौहान को कुल 12070 वोट मिले। गुर्जर ने 638239 मतों के अंतर से जीत दर्ज की। 

कांग्रेस प्रत्याशी अवतार सिंह भड़ाना लाखों मतों से चुनाव हार गए। कांग्रेस प्रत्याशी अवतार सिंह भड़ाना की हार का अहसास मतदान वाले दिन ही गया था, क्योंकि चुनाव वाले दिन कांग्रेस का संगठन न होने के कारण मतदान केंद्रों पर कांग्रेस नाम का कार्यकर्ता वोट की लड़ाई नहीं लड़ रहा था, जबकि भाजपा का कार्यकर्ता हर बूथ पर अपने प्रत्याशी की लड़ाई लड़ रहा था। 

फरीदाबाद, हरियाणा के 10 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में से एक है। यह हरियाणा का प्रमुख शहर है। इसे 1607 में शेख फरीद, जहांगीर के खजांची ने बनवाया था। यह दिल्ली से 25 किलोमीटर दक्षिण मे स्थित है। यह 15 अगस्त 1979 में हरियाणा का 12वां जिला बना था। आज फरीदाबाद अपने उद्यॉगों के लिए प्रसिद्ध है। हरियाणा की आय का 60 प्रतिशत हिस्सा फरीदाबाद से ही आता है। फरीदाबाद की बड़खल झील बहुत ही खूबसूरत है और काफी फेमस है। यहां पर बाबा फरीद की मजार भी बनी हुई है जहां मत्था टेकने कई श्रद्धालु आते हैं।

वर्ष 2014 में भी हरियाणा राज्य में, फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र से कृष्ण पाल गुर्जर का निर्वाचन हुआ. उन्हें 652516 वोट मिले. उनकी पार्टी बीजेपी है. उन्होंने अवतार सिंह भड़ाना को 466873 वोटों से हराया. निकटतम प्रतिद्वंद्वी की पार्टी कांग्रेस थी. 2014 में कुल 64.98 प्रतिशत वोट पड़े।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vineet Sharan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप