राज्य ब्यूरो, जम्मू । राज्य के पहले दौरे पर श्रीनगर पहुंचे भारतीय चुनाव आयोग के विशेष पर्यवेक्षकों का कश्मीर की राजनीतिक पार्टियों ने लोकसभा व विधानसभा चुनाव एकसाथ नहीं करवाने पर बहिष्कार कर दिया।

विधानसभा चुनाव टालने के विरोध में नेशनल कांफ्रेंस, माकपा, पीपुल्स डेमोक्रेटिक फोरम व डेमोक्रेटिक पार्टी नेशनलिस्ट ने पर्यवेक्षकों से मिलने से इनकार कर दिया। वहीं, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) कांग्रेस, पैंथर्स पार्टी व कश्मीर के अन्य कुछ दलों ने पर्यवेक्षकों से भेंट कर जोर दिया कि राज्य में लोकसभा व विधानसभा चुनाव एक साथ करवाए जाएं।

नेकां के प्रवक्ता ने कहा कि उनकी पार्टी दोनों चुनाव एक साथ करवाने के मुद्दे पर मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा से स्थिति स्पष्ट कर चुकी है। ऐसे में पर्यवेक्षकों से मिलने का कोई तुक नहीं बनता है। इसी बीच, पर्यवेक्षकों की टीम ने दो दिवसीय दौरा वीरवार को श्रीनगर से शुरू किया। विशेष पर्यवेक्षकों में सेवानिवृत्त आइपीएस अधिकारी एएस गिल, सेवानिवृत्त आइएएस अधिकारी नूर मुहम्मद व विनोद जुत्शी ने कश्मीर के राजनीतिक दलों से विधानसभा चुनाव करवाने के मुद्दे पर चर्चा की।

कांग्रेस के प्रतिनिधमंडल का नेतृत्व पूर्व मंत्री ताज मोहिउद्दीन ने किया। उनके साथ पूर्व विधायक उस्मान मजीद भी थे। पीडीपी के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व मोहम्मद अशरफ मीर व पूर्व विधायक नूर मोहम्मद ने किया। दोनों प्रतिनिधिमंडलों ने विधानसभा चुनाव को लोकसभा चुनाव के साथ करवाने की पैरवी की। पार्टी नेताओं ने पर्यवेक्षकों से मिलने के बाद बताया कि उन्हें स्पष्ट कर दिया है कि इस फैसले को लेकर कश्मीर में आक्रोश है।पीपुल्स कांफ्रेंस के प्रतिनिधमंडल का नेतृत्व अब्दुल गनी वकील व जुनैद अजीम मट्टू ने किया। भाजपा के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व आसिफ मसूदी व एमएम वार ने किया।

उन्होंने भी जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव करवाने पर अपनी राय दी। मंजूर अहमद नायक के साथ पर्यवेक्षकों से मिलने पहुंचे पैंथर्स पार्टी के नेताओं ने लोकसभा व विधानसभा चुनाव एकसाथ करवाने के साथ पार्टी नेताओं को सुरक्षा देने का भी मुद्दा उठाया। इसी बीच श्रीनगर में चुनावी हालात का जायजा लेने के बाद विशेष पर्यवेक्षक शुक्रवार को जम्मू में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधिमंडलों से मिलेंगे। वे लोकसभा चुनाव को लेकर की गई तैयारियों के बारे में जानकारी लेने के लिए राज्य के मुख्य सचिव व जम्मू कश्मीर पुलिस के डीजीपी के साथ भी बैठक करेंगे। 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप