मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, एएनआइ। चुनाव आयोग ने हिमाचल प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती को चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में शनिवार सुबह 10 बजे से शुरू होने वाले चुनाव प्रचार से 48 घंटों तक रोक दिया है। सत्ती पर शनिवार व रविवार तक दो दिन का प्रतिबंध लगा है।

गौरतलब है कि विवादित बोल पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ अभद्र शब्दों के प्रयोग पर दिए गए नोटिस का जवाब सत्ती ने दे दिया है। उन्होंने अपना जवाब जिला निर्वाचन अधिकारी सोलन को ई-मेल व फैक्स से भेजा है। अभी पहले नोटिस का मामला ठंडा नहीं हुआ कि बुधवार को निर्वाचन विभाग ने सत्ती को एक और नोटिस थमा दिया।

दूसरा नोटिस इसलिए दिया गया है क्योंकि सत्ती ने राहुल गांधी व प्रियंका वाड्रा पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। उनके कथन को चुनाव आयोग ने आपत्तिजनक मानकर नोटिस थमाया है। ऊना जिला के अम्ब के सहायक निर्वाचन अधिकारी ने सत्ती को नोटिस दिया है जिसका सर्विलांस टीम के पास वीडियो व दस्तावेजी प्रमाण उपलब्ध है। गगरेट विधानसभा क्षेत्र के भंजाल गांव में 14 अप्रैल को भाजपा के सम्मेलन में सत्ती ने मंच से राहुल गांधी व प्रियंका वाड्रा के खिलाफ टिप्पणी की थी।

सत्ती बोले, कांग्रेस तथ्यों से छेड़छाड़ कर रही

नालागढ़ के रामशहर में 13 अप्रैल को भाजपा अनुसूचित जाति एवं जनजाति मोर्चा की जनसभा में सत्ती ने राहुल गांधी के खिलाफ आपत्तिजनक शब्द कहे थे। इसके लिए दिए गए पहले नोटिस के जवाब में सत्ती ने कहा कि उनके कथन को कांग्रेस की ओर से तोड-मरोड़कर पेश किया जा रहा है। लोकसभा चुनाव में हार सामने देखकर कांग्रेस तथ्यों से छेड़छाड़ कर रही है। मैंने कार्यकर्ताओं से कहा था कि सोशल मीडिया पर लोग गालियां लिख रहे हैं। मैंने केवल उस प्रकार की पोस्ट को पढ़कर सुनाया था कि हमें इस तरह के दु‌र्व्यवहार से दूर रहना होगा। भाजपा कार्यकर्ता इस तरह के आचरण से दूर रहें।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती के बदजुबानी मामले में वीरवार को दिल्ली से दोबारा वीडियो व कंटेंट रिपोर्ट मांगी गई थी, जिसे राज्य निर्वाचन विभाग ने भेज दिया है। वहीं, सतपाल सत्ती के बयान पर आपत्तिजनक वीडियो जारी करने वाले पूर्व डिप्टी एडवोकेट जनरल विनय शर्मा ने अभी तक नोटिस का जबाव नहीं दिया है।

एक टीवी कार्यक्रम में एक कदम आगे निकलते हुए विनय शर्मा ने इनामी राशि को 10 से बढ़ाकर 20 लाख कर दिया है। मुख्य चुनाव अधिकारी देवेश कुमार ने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती से प्राप्त नोटिस के जवाब को दिल्ली भेज दिया है। 

जानें, किसने क्या कहा

सतपाल सत्ती ने एक नोटिस का जवाब दे दिया है। इसे चुनाव आयोग को भेज दिया गया है। उस पर निर्णय चुनाव आयोग लेगा। किसी नोटिस का जवाब 24 घंटे के भीतर देना जरूरी है। यदि कोई व्यक्ति इस अविध के भीतर जवाब नहीं देता है तो हम चुनाव आयोग को शिकायत भेज देते हैं।

-देवेश कुमार, मुख्य चुनाव अधिकारी।

---

सतपाल सत्ती के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। मामले की छानबीन की जा रही है। अगर सत्ती को रामशहर थाना बुलाने की आवश्यकता पड़ी तो वह उन्हें यहां बुलाएंगे। फिलहाल इस मामले में स्थानीय स्तर पर जांच हो रही है।

-एनके शर्मा, डीएसपी बद्दी।

----

सत्ती बार-बार अभद्र भाषा का प्रयोग करते हैं। चुनाव आयोग से आग्रह है कि सिर्फ नोटिस देने व जवाब लेने तक का मामला नहीं रखना चाहिए। कड़ी कार्रवाई करते हुए सत्ती को चुनाव प्रचार से रोकना चाहिए क्योंकि वह माहौल खराब कर रहे हैं। राहुल गांधी के खिलाफ टिप्पणी कट एंड पेस्ट का मामला नहीं बल्कि उनका पूरा भाषण उपलब्ध है। जिम्मेदार व्यक्ति को इस प्रकार सार्वजनिक मंच से अभद्रता करना शोभा नहीं देता है।

-मुकेश अग्निहोत्री, नेता प्रतिपक्ष।

 

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप