अजमेर, (जेएनएन)। अजमेर संसदीय क्षेत्र से घोषित भाजपा उम्मीदवार भागीरथ चौधरी 6 अप्रैल को नामांकन दाखिल करेंगे। अजमेर संसदीय क्षेत्र के लिए भाजपा का चुनाव कार्यालय 3 अप्रैल को सुबह साढ़े आठ बजे शुभ मुहूर्त के हिसाब से स्थानीय सिविल लाइन स्थित सौमाग्यलम् समारोह स्थल पर खोल दिया जाएगा। इस बीच कांग्रेस का अभी उम्मीदवार ही तय नहीं हो सकता है। कांग्रेस कार्यकर्ता स्थानीय और बाहरी उम्मीदवार की अटकलों के बीच निराश भाव से चर्चाओं में मशगूल हैं। वहीं भाजपा ने क्षेत्र में प्रचार प्रसार का पहला चरण पूरा कर लेने का दावा किया है।

भाजपा के कार्यकर्ताओं और मतदाताओं में जीत को लेकर जबर्दस्त उत्साह है। कांग्रेस अपना उम्मीदवार कब घोषित करती है यह कांग्रेस का आतंरिक मामला है, लेकिन भाजपा ने चुनाव जीतने की रणनीति तैयार कर ली है। नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने जो उपलब्धियां हासिल की, उन्हें ही आधार बना कर भाजपा चुनाव में जीत के लिए जनता तक जाएगी। अभी जनता के बीच भाजपा नेता केंद्र की मोदी सरकार की विकास योजनाओं के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा के विषय को पूरी शिद्त से ले जा रही है। विकास योजनाओं का लाभ गरीब तक पहुंचा है इसे लेकर विधानसभा चुनाव में अपनाई गई लाभार्थी योजनाओं के माध्यम से भाजपा पहले ही लोगों के जहन में कमल का फूल खिला चुकी है अब वह उन्हें किसी पंजे के हाथ ना लगने के लिए सचेत और सतर्क होकर फोलोअप करने में लगी है।

ये भी पढ़ें- Lok Sabha Election 2019: झंझारपुर से खुला नामांकन का खाता, दो ने भरे पर्चे

भाजपा कार्यकर्ता केंद्र की विकास योजनाओं से गरीबों, किसानों, शोषित व पीड़ितों को लाभ के दावों के साथ कांग्रेस की मौजूदा राज्य सरकार पर विभिन्न योजनाओं का जनता तक लाभ नहीं पहुंचाने के लिए बाधा डालने का आरोप भी लगा रहे हैं। भाजपा कार्यकर्ता बूथ स्तर पर जनसम्पर्क अभियान में सक्रिय होते हुए बता रहे हैं कि आयुष्मान स्वास्थ्य योजना में करोड़ों गरीब परिवारों को महंगे निजी अस्पतालों में मुफ्त इलाज की सुविधा मिल रही है। जिन गरीबों को लाभ पहुंचा हैं वे ही बता रहे हैं कि मोदी सरकार कितनी अच्छी है।

वहीं लोगों को बताया जा रहा है कि कांग्रेस की 12 हजार रुपए प्रतिमाह देने की घोषणा पूरी तरह फर्जी है। यदि कांग्रेस को गरीबों से हमदर्दी होती तो प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना में राजस्थान की कांग्रेस सरकार पात्र किसानों की सूची केन्द्र सरकार को उपलब्ध करवाती है। जो कांग्रेस सरकार पात्र किसानों की सूची उपलब्ध नहीं करवा रही है वह गरीबों को 12 हजार रुपए क्या देगी? सूची उपलब्ध नहीं करवाने से प्रदेश के पचास लाख किसान 6 हजार रुपए की राशि से वंचित हो रहे हैं। वर्षों से लम्बित आयकर की सीमा बढ़ाने की मांग भी मोदी सरकार पूरी की है। जीएसटी से ईमानदार कारोबारी बेहद खुश है। देश की एकता और अखंडता बनाए रखने के लिए नरेन्द्र मोदी का दोबारा से प्रधानमंत्री बनाए जाने को जरूरी बताया जा रहा है। कहा जा रहा है कि मोदी ही है जो आतंकवाद का मुंह तोड़ जवाब दे सकते हैं। अन्यथा कांग्रेस तो पाकिस्तान के सुर में सुर मिला रही है।

इधर, कांग्रेस कार्यकर्ता उम्मीदवार को लेकर कभी प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट, तो कभी चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा तो कभी डेयरी अध्यक्ष रामचंद्र चौधरी व विधानसभा चुनाव अहारे डीसीसी सचिव महेन्द्र सिंह रलावता, पूर्व विधायक डॉ श्रीगोपाल बाहेती, ललित भाटी अथवा भीलवाड़ा के उद्योगपति को अजमेर से टिकिट दिए जाने की अटकले लगा रहे हैं। वैसे कांग्रेस अजमेर को लेकर कोई भी प्रयोग कर सकती है। वह पहले भी उम्मीदवार पैराशूट से अजमेर में उतारती रही है। वैसे इस बार प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट की ओर से हाल में यह ऐलान किए जाने से कि मौजूदा मंत्री या विधायक में से कोई को टिकट नहीं मिलेगा कांग्रेस जन में एक बार फिर चर्चा गर्म होने लगी है। वैसे नामांकन दाखिल करने में अभी समय है। एक दो दिन में कांग्रेस की थी स्थिति साफ हो जाएगी। 

चुनाव की विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप