रायपुर, जेएनएन। छत्‍तीसगढ़ में ऊंट किस करवट बैठेगे, लोकसभा चुनाव परिणाम रुझान में अभी यह स्‍पष्‍ट होता नजर नहीं आ रहा है। यहां भाजपा और कांग्रेस के बीच 11 सीटों पर कड़ी टक्‍कर देखने को मिल रही है। भाजपा फिलहाल यहां 7 सीटों पर बढ़ बनाए हुए हैं, वहीं कांग्रेस 4 सीटों पर आगे चल रही है। हालांकि, रुझानों में ये अंतर काफी ऊपर-नीचे होता दिखाई दे रहा है। इसलिए ये कह पाना बेहद मुश्किल है कि किसकी झोली में कितनी सीट आएंगी। लोकसभा की सभी 542 सीटों के रुझानों में NDA को 338, UPA को 102 और अन्य को 102 सीटों पर बढ़त मिलती दिख रही है। साल 2014 में नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा की 543 में से 282 सीटों पर जीत हासिल की थी। बहुमत के आंकड़े 272 है।

छत्‍तीसगढ़ में इस समय कांग्रेस सत्‍ता में हैं। ऐसे में ये उम्‍मीद की जा रही थी कि लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस यहां अधिकतर सीटों पर जीत हासिल करेगी। हालांकि, रुझानों में ऐसा होता नजर नहीं आ रहा है। एग्जिट पोल्‍स में भी छत्‍तीसगढ़ में भाजपा को सबसे ज्‍यादा सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया था। अब ये अनुमान सही साबित होता नजर आ रहा है। अगर रुझान, परिणाम में तब्‍दील होते हैं, तो कांग्रेस के लिए यह तगड़ा झटका और भाजपा के लिए उम्‍मीद की नई किरण साबित होगा। बता दें कि राज्‍य में भूपेश बधेल के नेतृत्‍व में कांग्रेस की सरकार काबिज है जिसमें करीब पांच माह पहले ही 90 में से 68 सीटों पर बंपर जीत हासिल की है।

कौन आगे, कौन पीछे

छत्‍तीसगढ़ की कोरबा सीट से कांग्रेस की ज्‍योत्‍सना चरणदास महंत आगे हैं। वहीं सरगुजा से भाजपा की रेणुका सिंह ने बढ़त बना रखी है. रायगढ़ से इसी पार्टी की गोमती साईं बढ़त बनाए हुए हैं। गौरतलब है कि छत्‍तीसगढ़ में भाजपा ने विधानसभा चुनाव के निराशाजनक प्रदर्शन से सबक लिया और नए प्रत्‍याशी उतारे थे। एंटी इनकंबेसी से निपटने के लिए भाजपा ने यह कदम उठाया था।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Tilak Raj