रायपुर, जेएनएन। छत्तीसगढ़ की छह महीने पहले गठित विधानसभा की दो सीटें खाली हो गई हैं। दोनों ही सीट बस्तर संभाग की है। इसमें दंतेवाड़ा विधानसभा सीट विधायक भीमा मंडावी की मौत के कारण खाली हुई है। वहीं, दूसरी चित्रकोट सीट विधायक दीपक बैज के इस्तीफा देने की वजह से खाली हुई है। इन दोनों सीटों पर उप चुनाव होंगे। नियमानुसार सीट खाली होने के छह महीने में भीतर उप चुनाव कराया जाना है। ऐसे में सितंबर में दोनों सीटों के लिए एक साथ उप चुनाव कराए जा सकते हैं।

सांसद बने बैज ने छोड़ी विधायकी

चित्रकोट विधानसभा सीट से विधायक चुने गए कांग्रेस के दीपक बैज अब बस्तर के सांसद बन गए हैं। इस वजह से उन्होंने छत्तीसगढ़ विधानसभा से इस्तीफा दे दिया है। विधानसभा अध्यक्ष ने उनका इस्तीफा स्वीकार भी कर लिया है। विधानसभा सचिवालय के माध्यम से अब इसकी सूचना राज्य के मुख्य निवार्चन पदाधिकारी कार्यालय और चुनाव आयोग को भेजी जाएगी।

दंतेवाड़ा सीट का 12 अप्रैल को हुआ नोटिफिकेशन

दंतेवाड़ा सीट से भाजपा के विधायक भीमा मंडावी की नौ अप्रैल को नक्सली हमले में मौत हो गई थी। इस सीट के रिक्त होने की अधिसूचना 12 अप्रैल को प्रकाशित की जा चुकी है। नियमानुसार विधानसभा सीट छह महीने से अधिक खाली नहीं रखी जा सकती। ऐसे में इस सीट के लिए 12 अक्टूबर से पहले चुनाव कराया जाना जस्र्री है। उम्मीद की जा रही है कि सितंबर में दोनों सीटों के लिए एक साथ उपचुनाव कराए जा सकते हैं।

चित्रकोट की आयोग को नहीं मिली सूचना

चित्रकोट विधानसभा सीट के खाली होने की सूचना अभी राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी (सीईओ) को नहीं मिली है। सीईओ सुब्रत साहू ने बताया कि दंतेवाड़ा सीट के रिक्त होने की अधिसूचना जारी हो चुकी है, लेकिन चित्रकोट सीट के रिक्त होने की सूचना अभी नहीं मिली है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप