नई दिल्ली, प्रेट्र/आइएएनएस। गूगल और उससे संबंधित यूट्यूब जैसे प्लेटफार्म पर 19 फरवरी से तीन अप्रैल के बीच चुनाव संबंधी विज्ञापन देने में भारत में राजनीतिक दलों ने कुल 831 विज्ञापन देकर 3.76 करोड़ रुपये से अधिक रकम खर्च की है। इस दौड़ में सबसे अधिक रकम खर्च करने वाली पार्टी चंद्रबाबू नायडु की तेलुगुदेसम पार्टी (तेदेपा) है। उसने इस संबंध में चुनाव के प्रथम चरण से पहले 1.48 करोड़ रुपये दो अलग विज्ञापन एजेंसियों के मार्फत खर्च किए हैं।

हालांकि गूगल ने खुद अपनी जारी रिपोर्ट में तेदेपा के बजाय भाजपा को सबसे ऊपर रखा है। चूंकि उसने एक ही एजेंसी के जरिए 1.21 करोड़ रुपये खर्च किए। इस दौड़ में कांग्रेस पिछड़ कर छठे स्थान पर रह गई है, चूंकि उसने इस मामले में 54,100 रुपये ही खर्च किए हैं।

गुरुवार दी गई जानकारी के मुताबिक सर्वाधिक खर्च करने वाले चंद्रबाबू नायडू ने प्रमन्या स्ट्रैटेजी कंस्लटेंट के जरिए 85.25 लाख रुपये और डिजिटल कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड की मार्फत 63.43 लाख रुपये खर्च किए। इन दोनों एजेंसियों का कुल खर्च 1.48 करोड़ रुपये है।

दूसरी ओर, गूगल इंडिया ट्रांसपिरेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक भाजपा के बाद वाइएस जगनमोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली वाइएसआर कांग्रेस पार्टी ने 107 विज्ञापनों के लिए 1.04 करोड़ रुपये व्यय किए हैं। आश्चर्यजनक रूप से छठे स्थान पर रह गई कांग्रेस ने गूगल और यूट्यूब के मंचों पर 14 विज्ञापनों में केवल 54,100 करोड़ रुपये खर्च किए।

इसके अलावा, इथिनॉस डिजिटल मार्केटिंग ने 1.56 लाख रुपये, पम्मी साइ चरन रेड्डी (26,400 रुपये), हर्षनाथ ह्यूमन सर्विसेज (6,300 रुपये), जस्करन ढिल्लन (5,400 रुपये), विदूली मीडिया टेक (1,300 रुपये) और अकुला सत्यनारायण (400 रुपये) खर्च किए हैं।

इसी तरह राज्यवार इसी अवधि में आंध्रप्रदेश ने विज्ञापनों पर 1.73 करोड़ रुपये, तेलंगाना (72 लाख रुपये), उत्तर प्रदेश (18 लाख रुपये) और महाराष्ट्र ने 17 लाख रुपये खर्च किए गए हैं। गूगल इंडिया के जननीति निदेशक चेतन कृष्णस्वामी ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा है कि वह भारत और पूरे विश्व में चुनाव की लोकतांत्रिक प्रक्रिया का किस तरह समर्थन जारी रखें, इस पर चुनाव को लेकर गहन विचार कर रहे हैं।

फेसबुक पर सबसे खर्चीली भाजपा

फेसबुक पर राजनीतिक विज्ञापनों में पिछले महीने तक दस करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। इसमें भाजपा और उससे संबंद्ध लोगों ने पांच करोड़ रुपये खर्च किए हैं, जोकि कुल रकम का 50 फीसद है।

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप