पटना [जेएनएन]। लोकसभा चुनाव के लिए तीसरे चरण के चुनाव प्रचार का शोर रविवार की शाम में थम गया। सोमवार को प्रत्‍याशी घर-घर जाकर जनसंपर्क करते दिखे। बिहार में तीसरे चरण में झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा और खगडिय़ा में 23 अप्रैल को मतदान होना है। तीसरे चरण में ताल ठोक रहे 82 प्रत्याशियों की किस्‍मत का फैसला 23 अप्रैल को 88.31 लाख वोटर करेंगे।
बिहार में लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में झंझारपुर में 17, सुपौल में 20, खगडिय़ा में 20, अररिया में 12 और मधेपुरा में 13 प्रत्याशी हैं। पांच संसदीय क्षेत्रों में कुल मतदाताओं की संख्या 88 लाख 31 हजार 956 है। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 46 लाख 22 हजार 718 है। महिला मतदाता 42 लाख 8 हजार 986 हैं। मतदाताओं में 252 थर्ड जेंडर के लोग भी शामिल हैं।
सोमवार को घर-घर किया जनसंपर्क
सोमवार को प्रत्याशी मतदाताओं के घर-घर जाकर समर्थन की अपील कर रहे थे। इससे पहले रविवार को उम्मीदवारों के साथ दलों के स्टार प्रचारकों ने चुनावी सभाओं को संबोधित किया। इनमें सीएम नीतीश कुमार, डिप्‍टी सीएम सुशील कुमार मोदी, नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव, रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा प्रमुख रहे।
मधेपुरा में मुकाबला त्रिकोणीय
तीसरे चरण में मधेपुरा में त्रिकोणीय मुकाबले की स्थिति बन रही है। इस सीट पर राष्‍ट्रीय जनता दल (राजद) के शरद यादव, जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के दिनेश चंद्र यादव और मौजूदा सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के बीच मुकाबला में हैं। बाकी चार सीटों पर आमने-सामने की लड़ाई की स्थिति बन रही है।
झंझारपुर, सुपौल, अररिया व खगडि़या में आमने-सामने की लड़ाई
झंझारपुर में जदयू के रामप्रीत मंडल और राजद के गुलाब यादव के बीच टक्कर होगी। हालांकि, निर्दलीय देवेंद्र प्रसाद यादव भी मुकाबले में तीसरा कोण बनाने की कोशिश में हैं। सुपौल में जदयू के दिलेश्वर कामत और कांग्रेस की रंजीत रंजन आमने सामने हैं। अररिया में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदीप सिंह और राजद के सरफराज आलम के बीच मुकाबला होने की संभावना है। खगडिय़ा में लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के महबूब अली कैसर और विकासशील इंसान पार्टी (वीआइपी) पार्टी के मुकेश सहनी के बीच लड़ाई की स्थिति बन रही है। 

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप