मुजफ्फरनगर, जेएनएन। लोकसभा चुनाव 2019 में पार्टी के नेताओं के साथ ही उनके समर्थकों में भी काफी गहमा गहमी है। मुजफ्फरनगर में कल बिजनौर से कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी तथा मायावती सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी की सभा के बाद माहौल खराब हो गया।

यहां नसीमुद्दीन सिद्दीकी की सभा के बाद पूर्व विधायक के आवास पर आयोजित बिरयानी पार्टी में बवाल हो गया। कार्यकर्ताओं के दो गुटों में संघर्ष इतना बढ़ गया कि दोनों तरफ से लाठी-डंडे चलने लगे। पुलिस ने आठ लोगों को हिरासत में लेकर पूर्व विधायक समेत 25 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

मुजफ्फरनगर में ककरौली के टंढेड़ा गांव में कल बिजनौर लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी नसीमुद्दीन सिद्दीकी की सभा के बाद पूर्व विधायक के आवास पर आयोजित बिरयानी पार्टी में आपाधापी मच गई। कार्यकर्ताओं के दो गुटों में संघर्ष हो गया। दोनों ओर से जमकर लाठी-डंडे चले।

वहां बवाल की सूचना पर पहुंची पुलिस ने लाठी चार्ज के बाद स्थिति को नियंत्रित किया। पुलिस ने आठ लोगों को हिरासत में लेकर पूर्व विधायक समेत 25 लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है। तनाव को देखते हुए गांव में पंजाब पुलिस को भी तैनात किया गया है।

ककरौली थाना क्षेत्र के टंढेड़ा गांव में पूर्व विधायक मौलाना जमील अहमद कासमी के संयोजन में कल बिजनौर लोकसभा से कांग्रेस प्रत्याशी नसीमुद्दीन सिद्दीकी की सभा का आयोजन किया गया था। जिसमें मदरसे के छात्रों के अलावा विभिन्न गांवों से लोग आए थे।

इस सभा के समापन पर पूर्व विधायक के आवास पर बिरयानी पार्टी का आयोजन हुआ। जहां लोगों की काफी भीड़ के चलते अव्यवस्था हो गई और बिरयानी के वितरण में भी काफी आपाधापी मच गई। कार्यकर्ता इधर-उधर प्लेटें फेंकने लगे। इसको लेकर कुछ युवकों में कहासुनी हुई और देखते ही देखते लाठी-डंडे चलने लगे।

भगदड़ मच गई। मारपीट में पांच लोग घायल हो गए। वहं थानाध्यक्ष ककरौली जितेंद्र कुमार भारी पुलिस बल के साथ पहुंच गए और लाठियां फटकारकर भीड़ को नियंत्रित किया। पंजाब पुलिस के जवानों ने भी लोगों को दौड़ाया। पुलिस कई लोगों को हिरासत में थाने ले आई।

थानाध्यक्ष ने बताया कि कांग्रेस प्रत्याशी नसीमुद्दीन सिद्दीकी, पूर्व विधायक मौलाना जमील अहमद कासमी समेत 25-30 लोगों के विरुद्ध आचार संहिता का उल्लंघन करने और मतदाताओं को प्रलोभन देकर मतदान प्रभावित करने का मुकदमा दर्ज किया गया है।

शांतिभंग करने वालों को चिन्हित कर अलग से कार्रवाई की जाएगी। एहतियातन गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। 

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप