वाराणसी [अरुण मिश्रा]। महागठबंधन की लहर दिखाई नहीं दे रही है लेकिन बसपा व सपा के दोनों प्रमुख नेताओं के साथ आने से परिपक्व नेतृत्व मिल गया है। इसलिए 23 मई का परिणाम चौंकाने वाला होगा। यह वैसे ही होगा जैसे 2014 का परिणाम था। महागठबंधन जीत को लेकर पूरी तरह आश्वस्त है। 

ये बातें शनिवार को दो दिवसीय चुनावी दौरे पर पहुंचे बसपा के प्रवक्ता सुधींद्र भदौरिया ने कही। नदेसर स्थित एक होटल में विशेष बातचीत के दौरान उन्होंने काशी ही नहीं पूरे प्रदेश में महागठबंधन को किसानों व बेरोजगारों के लिए बेहतर विकल्प बताया। कहा कि बसपा, सपा और आरएलडी की ताकत से भाजपा का मुकाबला करना असंभव है। कहा कि प्रदेश के किसान परेशान हैं। उन्हें कर्ज की चिंता सता रही है। पैदावार का उचित मूल्य नहीं मिल रहा है। फसलों को जानवर खा जा रहे हैं। ये ऐसे मुद्दे हैं जिसे भाजपा सरकार ने पूरा नहीं किया। वहीं बेरोजगारी बढऩे से युवाओं में हताशा है। प्रदेश इस बड़े संकट से गुजर रहा है। 

अर्थव्यवस्था पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि नोटबंदी के चलते जीडीपी आज दो फीसद गिर गया है। इससे देश की माली हालत खराब हुई है। इससे विकास रुका है और बेरोजगारी बढ़ी है। प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा सरकार में दलित और अल्पसंख्यक वर्ग पर प्रताणना व लिंचिंग की घटनाएं बढ़ी हैं। इससे देश व प्रदेश का बुरा हाल हुआ है।

जौनपुर मे मछलीशहर और पूर्वांचल के अन्य जनपदों से चुनावी दौरा करके लौटे बसपा प्रवक्ता ने कहा कि सभाओं में मतदाताओं के बीच असंतोष साफ दिखाई दिया है। ये सारे वर्ग ही महागठबंधन को ताकत देंगे और इसी की बदौलत हमारी जीत तय है। लोकतंत्र को मजबूत के लिए ही महागठबंधन बना है जिसका परिणाम देश की जनता 23 मई को देगी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस