वाराणसी [प्रवीण यश] । लोकसभा चुनाव में जैसे नेता ऊंचे ऊंचे वादे कर रहे हैं उस ही तरह विमानों के किराए भी ऊंचाइयों पर हैं। वाराणसी समेत पूर्वांचल के विभिन्न जनपदों में मतदान की तारीखें जैसे-जैसे करीब आ रही हैं किराया भी उसी तेजी से बढ़ रहा है। मतदान की तारीख के एक दिन पहले और एक दिन बाद की यात्रा के लिये विमान का किराया काफी तेजी से बढ़ रहा है।

बनारस समेत पूर्वांचल के बहुत से लोग दूसरे राज्यों और देशों में नौकरी या व्यवसाय करते हैं। ऐसे में अपने संसदीय क्षेत्र में आकर अपना सांसद चुनने के लिये सभी लोग  काशी आने को आतुर हैं। ऐसे में समय बचाने के लिए लोगों ने विमानों की सीट पहले ही पक्की कर ली है। लोग मतदान से पूर्व 11 व 20 मई और मतदान करने के बाद वापसी 18 से 20 मई के टिकट भी तेजी से बुक करवा रहे हैं। 

इन रूट पर इतने विमान हो रहे संचालित

दिल्ली -वाराणसी

 

नौ विमान
मुंबई -वाराणसी पांच विमान
हैदराबाद -वाराणसी तीन विमान
कोलकाता -वाराणसी दो विमान
बेंगलूरू -वाराणसी दो विमान
अहमदाबाद -वाराणसी एक विमान
चेन्नई -वाराणसी  एक विमान पांच दिन
गुवाहटी-वाराणसी  एक विमान चार दिन

इन तिथियों में बढ़ रहा किराया : छठवें चरण में 12 मई को होने वाले मतदान में लालगंज, आजमगढ़, जौनपुर, मछलीशहर और भदोही शामिल हैं। जबकी सातवें चरण में 19 मई को गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मीरजापुर, रॉबर्ट्सगंज, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया संसदीय क्षेत्र हैं। इन सभी जिलों के लिए एलबीएस ही एकमात्र एयरपोर्ट है। 

इन रूटों का बढ़ रहा किराया : मुंबई से वाराणसी का किराया सामान्य दिनों में छह से सात हजार रहता है। हालांकि चुनवी महासमर को देखते हुए  टिकट का दाम 15 से 16 हजार रूपए या उससे भी अधिक रहेगा। यही हाल मतदान के बाद वाराणसी से मुंंबई जाने का भी है। वहीं हैदराबाद से वाराणसी का किराया सामान्य दिनों में साढ़े तीन से चार हजार के बीच है। यही किराया मतदान तिथियां नजदीक आने पर नौ से 11 हजार या उससे भी अधिक रहेगा। 

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस