रांची, राज्‍य ब्‍यूरो। Lok Sabha Election 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा में टिकट बंटवारे की कवायद पूरी हो गई है। प्रदेश भाजपा ने संभावित प्रत्याशियों पर रांची के साथ-साथ दिल्ली में भी काफी मंथन किया है। इसपर एक दौर की बातचीत होगी। कई नेताओं ने अपना टिकट फिक्स कराने के लिए दिल्ली में डेरा डाल दिया। टिकटों को लेकर शिगूफे भी खूब छोड़े जा रहे हैं। मुख्यमंत्री समेत प्रदेश भाजपा के शीर्ष नेताओं की टीम झारखंड वापस भी आ गई है।

मुख्यमंत्री एक बार फिर दिल्ली जा सकते हैं। माना जा रहा है कि भाजपा झारखंड में महागठबंधन के प्रत्याशियों का चेहरा सामने आने के बाद ही पार्टी अपने पत्ते खोलेगी। दरअसल, झारखंड में भाजपा का सीधा मुकाबला महागठबंधन से ही होगा। आमने-सामने के मुकाबले में वोटों के बंटवारे की संभावना भी कम रहती है। इसलिए महागठबंधन को ले भाजपा कुछ ज्यादा ही गंभीर है और गठबंधन की सूची फाइनल होने का इंतजार कर रही है।

चुनाव की घोषणा के बाद के सर्वे में भी झारखंड के संदर्भ में जो रिपोर्ट आई है, उसमें यूपीए कुछ भारी पड़ता दिखाई दे रहा है। पार्टी के आंतरिक सर्वे में भी कई सीटों पर कांटे की स्थिति दिखाई दे रही है। हालांकि, प्रत्यक्ष तौर पर भाजपा महागठबंधन की चुनौती को नकार रही है और एनडीए के सभी 14 सीटों पर जीत का दावा भी कर रही है। वैसे भी झारखंड में चौथे चरण से चुनाव की प्रक्रिया शुरू होगी। इसलिए उम्मीदवारों की घोषणा को लेकर भाजपा को कोई हड़बड़ी भी नहीं है। पार्टी होली के बाद ही सीटों के बंटवारे की घोषणा करेगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस