रांची, जेएनएन। Lok Sabha Election 2019 झारखंड में महासमर का मैदान सज चुका है। चौदहों लोकसभा क्षेत्रों के योद्धा कमर कस चुके। लड़ाई अब अपने आखिरी मुकाम की ओर है। बड़ा सवाल, मुद्दा क्या। एनडीए प्रत्याशी जनता के सामने क्या दावा पेश कर रहे, किस बूते लड़ रहे। महागठबंधन के उम्मीदवार किस मुद्दे पर हमलावर हैं, क्या सपने दिखा रहे जनता को।

हमने राज्य की सभी लोकसभा सीटों के प्रमुख प्रत्याशियों से बात की, उनके पांच मुद्दे पूछे जिसके बूते वे मैदान में हैं। तस्वीर साफ हुई। एनडीए प्रत्याशी जहां केंद्र सरकार की उपलब्धियों और योजनाओं को जमीन पर उतारने का श्रेय ले रहे। वहीं, महागठबंधन इसे झूठ का पुलिंदा बता रहा। आदिवासियों का हक और उनकी जमीन की लड़ाई को विपक्ष मुद्दा बना रहा।

सड़क, रेलवे, शिक्षा, पानी प्राय: सभी उम्मीदवारों के मुद्दे हैं, वे जनता को बता रहे कि इन जरूरतों को उनकी सरकार ही पूरा कर सकती। बहरहाल, राज्य की चौदह सीटों में दस सीटों पर एनडीए और महागठबंधन की सीधी लड़ाई है तो रांची, कोडरमा, हजारीबाग और चतरा में लड़ाई त्रिकोणीय है। 

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस