नई दिल्‍ली, जेएनएन। छत्‍तीसगढ़ की कोरबा लोकसभा सीट पर मंगलवार 23 अप्रैल को तीसरे चरण के तहत वोट डाले जा रहे हैं। इस बार अजीत जोगी इस सीट से चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। ऐसे में भाजपा की ओर से ज्योति नंद दूबे और कांग्रेस की ज्योत्सना महंत के बीच सीधा मुकाबला माना जा रहा है। हालांकि इनके अलावा 11 अन्‍य दलों के प्रत्‍याशी भी मैदान में हैं। अब यह देखना दिलचस्‍प होगा कि जनता का झुकाव किस ओर होगा।

समीकरण बदलने की मंशा से बसपा ने मजबूत प्रत्‍याशी उतारा
2014 के चुनाव में भाजपा के डॉ बंशीलाल महतो ने भारी मतों से जीत हासिल की थी। उन्‍हें कांग्रेस के चरण दास महंत से करारी टक्‍कर मिली थी। इस बार भी इन दोनों दलों में सीधा मुकाबला माना जा रहा है। दरअसल, यहां से जनता कांग्रेस छत्‍तीसगढ़ के मुखिया अजीत जोगी ने चुनाव न लड़ने का ऐलान किया है। ऐसे में भाजपा और कांग्रेस के बीच मुख्‍य मुकाबला माना जा रहा है। चुनावी जानकारों के मुताबिक बसपा उम्‍मीदवार परमीत सिंह ने भाजपा और कांग्रेस का चुनावी गणित बिगाड़ दिया है। उन्‍हें यहां का मजबूत प्रत्‍याशी माना जा रहा है। पिछले लोकसभा चुनाव में बंशीलाल महतो को 4 लाख 39 हजार दो वोट हासिल हुए थे, जबकि कांग्रेस के चरणदास महंत 4 लाख 34 हजार 737 वोट मिले थे। भाजपा ने इस बार बंशीलाल का टिकट काट दिया है। ऐसे में उसके लिए इस सीट को बचाए रखना चुनौतीपूर्ण होगा।

पिछली बार की अपेक्षा इस बार होगा बंपर मतदान
चुनावी जानकारों के मुताबिक हर बार इस लोकसभा क्षेत्र के लोग चुनाव में बढ़चढ़कर हिस्‍सा लेते हैं। यहां के बुजुर्ग भी मतदान करने के लिए पोलिंग बूथों तक पहुंचते हैं। यही नतीजा है कि 2014 के चुनाव में यहां पर बंपर वोटिंग हुई थी। आंकड़ों के अनुसार पिछली बार इस सीट पर 73.35 फीसदी मतदान हुआ था। इस बार यह मतदान प्रतिशत बढ़लने की उम्‍मीद की जा रही है।

15 लाख मतदाता तय करेंगे प्रत्‍याशियों की किस्‍मत
इस बार कोरबा लोकसभा के लिए करीब 15 लाख 7 हज़ार 779 मतदाता वोटिंग कर प्रत्‍याशियों की हार जीत तय करेंगे। 23 अप्रैल को सुबह सात बजे से मतदान शुरू होगी जो शाम पांच बजे तक चलेगी। प्रशासन की ओर दिव्‍यांगों के लिए सभी विधानसभा क्षेत्रों में मॉडल बूथ बनाए गए हैं। कोरबा जिला निर्वाचन अधिकारी किरण कौशल ने बताया कि मतदान के दिन सुरक्षा व्‍यवस्‍था को मजबूत रखा जाएगा।  

Posted By: Rizwan Mohammad