जम्मू, जेएनएन। देशभक्ति के नाम पर नरेंद्र मोदी और अमित शाह लोगों को लड़ाने का काम कर रहे हैं। सच तो यह है कि भाजपा देश भक्ति से कोसों दूर है। वह लोगों की भावनाओं को खिलवाड़ कर वोट की राजनीति कर रही है। हकीकत में दोनों को देशभक्ति का मतलब भी पता नहीं है। दोनों मित्रों (नरेंद्र मोदी और अमित शाह) व उनकी पार्टी में शामिल नेताओं ने देशभक्ति के नाम पर मच्छर जितना खून भी नहीं बहाया है।

यह बात कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद ने जम्मू में पत्रकारों से बात करते हुए कही। आजाद ने वीरवार को जम्मू में कांग्रेस पार्टी का घोषणा पत्र भी जारी किया। उन्होंने कहा कि इतिहास में यह दर्ज है कि आजादी के लिए जो जेल गए या फिर जिनका खून बहा उनमें महात्मा गांधी, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी, बयंत सिंह का नाम दर्ज है। भाजपा को देशभक्ति के बारे में क्या पता है? भाजपा की यह सच्चाई हम ही नहीं बल्कि पूरा देश जानता है।

आजाद ने कहा कि मोदी सरकार ने जनता का ध्यान अपने किए वायदों से हटाने के लिए देशभक्ति का राग अलापना शुरू किया है। मोदी जनता से किए उन वायदों का जवाब दे जो उन्होंने प्रधानमंत्री के लिए चुनाव लड़ने से पहले किए थे। गुलाम नबी आजाद ने गरीब परिवारों के बैंक खातों में 15 लाख रूपये जमा कराने, 10 करोड़ बेरोजगार युवाओं को रोजगार देने, किसानों का पचास प्रतिशत मुनाफा करना व बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं की स्थिति स्पष्ट करने को कहा।

उन्होंने कहा कि जनता सब समझती है, सब जानती है। देशभक्ति की भावनाएं जागृत कर व झूठे आश्वासनों के नाम पर वोट हासिल नहीं किए जा सके। इन चुनावों में भाजपा को स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। 

Posted By: Rahul Sharma