जयपुर, जेएनएन। राजस्‍थान में भाजपा की लोकसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सोमवार को एक दिवसीय दौरे पर जयपुर पहुंचे। पार्टी की विधानसभा चुनावों में हार के बाद शाह का यह पहला प्रदेश दौरा होगा। एक दिवसीय दौरे पर जयपुर आए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने विपक्ष पर जमकर प्रहार किए। अमित शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को संबोधित करते हुए कहा, विपक्ष ने नरेंद्र मोदी को हराने के लिए एक गठबंधन बनाया है। मैं राहुल बाबा से पूछता हूं कि वे जनता को बताएं कि उनका नेता कौन है। इस गठबंधन का हर दिन नया नेता होता है। शाह ने जयपुर कलस्टर शक्ति केंद्र को संबोधित करते हुए कहा कि 2019 में मोदी जी और बड़ी जीत दर्ज कराने जा रहे हैं।

विधानसभा चुनाव के दौरान शाह ने राजस्थान में अगस्त से लेकर दिसम्बर तक सभी सम्भागों और प्रमुख जिलों का दौरा किया था। अब लोकसभा चुनाव के लिए यह उनका पहला दौरा है। शाह पहले दस फरवरी को आने वाले थे, लेकिन बाद वह दौरा स्थगित कर 18 फरवरी कर दिया गया। अमित शाह अपने इस एक दिवसीय दौरे के दौरान कई बैठकें करेंगे।इस बैठक के जरिए शाह ‘मेरा बूथ, सबसे मजबूत‘ का मूल मंत्र देने वाले हैं। 

इससे पहले कार्यक्रम की शुरुआत वंदे मातरम से हुई। सम्मेलन में दो मिनट का मौन रखकर पुलवामा आतंकी हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। शाह एयरपोर्ट से सीधे आदर्श नगर स्थित सूरज मैदान पहुंचे। यहां उन्होंने भीलवाड़ा, हनुमानगढ़, कोटा, डूंगरपुर, नागौर, टोंक, राजसमंद, गंगानगर, बाड़मेर, चित्तोड़गढ़, बीकानेर और बांसवाड़ा में भाजपा कार्यालयों के लिए ली गई जमीनों के शिलाटि्टकाओं का लोकापर्ण किया।

अमित शाह ने जयपुर शहर, जयपुर ग्रामीण, सीकर लोकसभा क्षेत्र के बूथ अध्यक्ष एवं शक्ति केन्द्र से ऊपर के वरिष्ठ कार्यकर्ता को अपने संबोधन की शुरूआत जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीदों को श्रद्धाजलि अर्पित करने के साथ की। अमित शाह ने कहा, पूरा देश आतंकी हमले में शहीद हुए शहीदों के परिवार वालों के साथ खड़ा है। इस हमले के दोषियों के खिलाफ भाजपा सरकार माकूल कार्रवाई करेगी। नरेंद्र मोदी के पीएम बनने के बाद सेना को मजबूत करनेे को लेकर एक टाइम टेबिल बनाया है। 

गठबंधन वाले आए तो डीलर सरकार चलाएंगे 

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का कहना है कि देश में यदि गठबंधन वाले दलों की सरकार बनी तो यह सरकार लीडर नही बल्कि डीलर चलाएंगे। देश को डीलर वाली नहीं बल्कि मजबूत लीडर वाली सरकार चाहिए और ऐसी सरकार सिर्फ भाजपा की मोदी सरकार ही दे सकती है। 

सोमवार को जयपुर आए शाह ने जयपुर शहर, जयपुर ग्रामीण और सीकर लोकसभा क्षेत्र के शक्ति केन्द्र प्रमुखों के सम्मेलन के जरिए पार्टी के चुनाव प्रचार अभियान और चुनावी तैयारियों की शुरूआत की। सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए शाह ने कांग्रेस और महागठबंधन बनाने जा रहे दलों पर जम कर प्रहार किए और कहा कि एक तरफ सांस्कृृतिक राष्ट्रवाद वाली भाजपा है और दूसरी तरफ सत्ता के लालची लोगों का गठबंधन है। इस गठबंधन का न नेता है और न नीति है। ऐसा गठबंधन देश का भला नहीं कर सकता। उन्होने कहा कि चार पीढी तक देश पर राज करने वाली कांगे्रस पार्टी बहुत बुरे हाल में देश को छोड कर गई थी। लोगों के पास सामान्य जनसुविधाएं भी नहीं थी। हमें पाच साल जनता के बीच काम करने का मौका मिला और हमने उज्जवला, आयुष्मान भारत, मुद्रा बैंक लोन जैसी बडी योजनाएं देश को दी। शाह ने कहा कि कांग्रेस के नेताओं ने देश मे दस साल राज किया और साढे बारह लाख करोड के घोटाले किए, जबकि हमरी सरकार पर पांच साल में एक भी आरोप नहीं लगा है। 

हारजीत से फर्क नहीं पडता-

शाह ने कह कि राजस्थान में हमारी पार्टी चुनाव हार गई, लेकिन हम ऐसी पार्टी है, जिसे चुनाव में हार का कोई दुख नहीं होता, क्योंकि हम सत्ता में लोगों की सेवा के लिए आते है। चुनाव में हार का दुख उन्हें होता है जो सत्ता की मलाई खाना चाहते है। शाह ने कहा कि राजस्थान के कार्चकर्ता आने वाले चुनाव में यह साबित कर देंगे कि वे हार से निराश नहीं है और पाटी एक बार फिर यहां लोकसभा की सभी 25 सीटे जीतेगी। 

आतंकवाद के खिलाफ जीरो टाॅलरेंस-

सम्मेलन में पुलवामा के आतंकी हमलेे का असर भी साफ नजर आया। शाह  सहित सभी नेताओं ने आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों को याद किया और दो मिनट का मौन रख कर श्रद्धांजली अर्पित की। शाह ने कहा कि यह सम्मेलन संकल्प का सम्मेलन होना चाहिए। यह हम सब के लिए आतंकवाद के खिलाफ लडाई का संकल्प लेने का समय है। मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि हम इनके बलिदानों को व्यर्थ नहीं जाने देंगे। इस घटना का माकूल जवाब दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा अकेली ऐसी पार्टी है जो आतंकवाद के खिलाफ जीरो टाॅलरेंस की नीति अपनाती है। इसके खिलाफ लडाई की जो इच्छाशक्ति हमारे प्रधानमंत्री में है, उतनी किसी नेता में नहीं है। सरकार में आने के बाद सेना को मजबूत करने के लिए हमारी सरकार ने पूरी योजना बना कर काम शूरू किया है। इस बार के बजट में आजादी के बाद सबसे ज्यादा राशि रक्षा कोष के लिए दी गई है। 

2019 के बाद दक्षिण में भी जाना है-

शाह ने कहा कि पार्टी का विस्तार कई नए क्षेत्रों में हुआ है। पूर्वोत्तर जैेसे राज्यों में हम पहुंचे है और बंगाल और उडीसा में भी हम परचम फहराएंगे, लेकिन 2019 के बाद हमें दक्षिण में भी जाना है और पार्टी को कन्याकुमारी तक पहुंचाना है। भाजपा के हर कार्यकर्ता के लिए 2019 का चुनाव भाजपा को पूरे देश में फैलाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इस मौके पर शाह ने 12 जिलों में पार्टी के जिला कार्यालयों के भवनों का शिलान्यास भी किया। 

सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि मैं आप सभी को आभार देना चाहती हूं, क्योंकि विधानसभा में हम भले ही जीत नहीं पाए, लेकिन हमने कांग्रेस को भी पूरी तरह जीतने नहीं दिया। आप लोगों के बीच जा कर हमारी सरकार के समय किए गए जनहित के काम लोगों तक पहुंचाए। हमने झूठ और फरेब के जाल में जनता को नहीं फंसाया है। हम जनता के बीच पूरे विश्वास के साथ जाना चाहते है। उन्होंने कहा कि दो माह में ही जनता कांग्रेस के राज से उब गई है।अब सबसे बडी परीक्षा कार्यकर्ताओं के बीच आई है। अपने क्षेत्रों को सम्भालोंं और एक बार फिर देश में मोदी की सरकार बनाने का काम करो। सम्मेलन को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी ने भी सम्बोधित किया। 

दौरे से पहले बदले जिलों के संगठन प्रभारी-

पार्टी ने अध्यक्ष अमित शाह के दौरे से पहले सभी 42 जिला संगठनों के प्रभारियों को बदल दिया है। पार्टी प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी ने विधानसभा चुनाव से पहले कुछ जिलों के संगठन प्रभारी बदले थे, लेकिन अब लोकसभा चुनाव से पहले सभी 42 जिला संगठनों के प्रभारियों में बदलाव कर दिया गया है। नए प्रभारियों में कुछ मौजूदा विधायक और पूर्व प्रदेश पदाधिकारी शामिल है। ये सभी सोमवार को पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की बैठक में शामिल रहें और उनसे निर्देश लेकर अपना काम सम्भालेंगे। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस