गोरखपुर, जेएनएन। संतकबीर नगर संसदीय सीट पर भाजपा की रणनीति पर दूसरे दलों की नजरें टिकी हैं। यहां के सियासी मैदान में सपा-बसपा, भाजपा और कांग्रेस को ही मुख्यरूप से परिणामी दौड़ में शामिल दलों के रूप में माना जाता है। पूर्व के विधानसभा चुनाव में पीस पार्टी की भी यहां धमक तेज सामने आ चुकी है। इसे लेकर अब भाजपा के टिकट के टिकटिक पर गुणा-गणित के मसाले का जायका तैयार हो रहा है।

संतकबीर नगर सीट से कांग्रेस ने परवेज खां को उम्मीदवार घोषित कर दिया है तो वहीं सपा-बसपा-रालोद गठबंधन से भीष्म शंकर उर्फ कुशल तिवारी के नाम को कयासों में पक्का माना जा रहा है। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी और पीस पार्टी के गठजोड़ हो जाने के बाद नाम घोषित होने को लेकर इंतजार का दौर चल रहा है। सबसे अधिक चर्चा तो भाजपा की प्रत्याशिता पर हो रही है। इसे लेकर नए चेहरे को उतारे जाने, पूर्व में सांसद रहे दूसरे दल में रहे राजनेता को शामिल करके टिकट दिए जाने के साथ ही प्रदेश संगठन में पदाधिकारी दो चेहरों के नाम की चर्चा सामने आ रही है।

भाजपा का उम्मीदवार कौन होगा यह तो संसदीय समिति द्वारा ही तय किया जाएगा परंतु सभी दलों के जमीनी ताकत का आंकलन करने में भाजपा का पत्ता नहीं खुलने को लेकर भ्रम की दशा बनी है। हालांकि पीस पार्टी और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के साथ ही उसके साथ छोटे दलों के शामिल होने को लेकर इसे भी चर्चा में महत्वपूर्ण स्थान दिया जा रहा है। पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. मो. अय्यूब का निर्वाचन क्षेत्र होने को लेकर भी अनेक प्रकार के कयास लगाए जा रहे हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस