औरैया, जेएनएन। सैफई में मतदान करने के बाद औरैया मंडी समिति में जनसभा में सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने तंज कसते हुए कहा कि 2014 में चाय वाले जुमलेबाज ने ऐसी चाय पिलाई की देश की जनता जान ही नहीं पाई और अब जाकर पता चला कि चाय नशीली थी। यहां पर उन्होंने भाजपा पर जमकर निशाना साधा।

बाबाजी को लैपटॉप चलाना ही नही आता

इटावा लोकसभा से गठबंधन प्रत्याशी के समर्थन में आयोजित जनसभा में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि हमने लैपटॉप दिए मगर बाबाजी को चलाना ही नही आता था तो वो इसके महत्व को जान ही नहीं पाए। भारत से 36 हजार लोग जनता का रुपया लेकर चले गए। कहा, सरकार बनने पर समाजवादी पेंशन पांच सौ रुपये की जगह तीन हजार रुपये होगी। तीसरे चरण के चुनाव में भाजपा का सूपड़ा साफ हो जाएगा। अखिलेश ने उपस्थित लोगों से पूछा कि कितनों को नौकरी मिली। कहा, बीजेपी ने बेरोजगारों के साथ छल किया है। केंद्र में गठबंधन की सरकार बन रही है।

संविधान न होता तो बाबाजी क्या कर रहे होते

सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री बाबाजी कहते है कि संविधान न होता तो मैं भैंस चरा रहा होता तो अन्य वर्ग का क्या सोंचते होंगे। अगर संविधान न होता तो बाबाजी क्या कर रहे होते। यह बीजेपी आंबेडकरजी का संविधान खत्म करना चाहती है। यह गरीबी का चुनाव है, इसलिए सोच समझ लें। जिनका परिवार नहीं वह क्या जाने सिलेंडर में कितनी गैस होनी चाहिए। डिंपल यादव ने कहा कि ये गठबंधन मजबूत है, भाजपा सरकार से लोग मायूस है। अखिलेश यादव ने बिधूना में भी डिंपल यादव के पक्ष में जनसभा को संबोधित किया।

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस